‘शमा-सुषमा’ के संपादक-प्रकाशक मोहम्मद यूनुस देहलवी सुपुर्द-ए-ख़ाक

1 min


60 से 90 के दौर की बेहद लोकप्रिय फिल्मी पत्रिकाओं शमा और सुषमा के संपादक और प्रकाशक मोहम्मद यूनुस देहलवी अब इस दुनिया में नहीं रहे। उनकी उम्र 89 साल थी। शमा और सुषमा मैग्ज़ीन लाखों की तादाद में बिकती थीं। मोहम्मद यूनुस देहलवी साहेब को दिल्ली में करोल बाग के करीब शादीपुरा के कब्रिस्तान कौम पंजाबियान में सुपुर्दे खाक कर दिया गया। देहलवी साहब की बेटी सादिया देहलवी प्रख्यात लेखिका हैं और पुत्र वसीम फिल्म प्रोड्यूसर हैं।

देहलवी साहब ने अपनी पत्रिकाओ को सिर्फ फिल्मी ही नहीं बनाकर रखा था। उसमें वो किश्न चंदर, इस्मत चुगताई और राजिन्दर सिंह बेदी जैसे उम्दा कहानीकारों को नियमित रूप से छापते थे। इतना ही नहीं, वरिष्ठ लेखिका, इतिहासकार और अनुवादक रक्षंदा जलील का कहना हैं कि नरगिस और मीना कुमारी भी शमा-सुषमा के लिए कभी-कभी लिखा करती थीं।

दरअसल, शमा प्रकाशन को यूसुफ देहलवी ने ही शुरु किया था, और उसे कामयाब बनाया उनके बेटे मोहम्मद यूनुस देहलवी ने। एक दौर में इसका आसिफ अली रोड पर स्थित दफ्तर गुलजार रहा करता था। वहां पर मशहूर फिल्मी सितारे यूनुस साहब से मुलाकात के लिए पहुंचते थे, ताकि उनका इंटरव्यू शमा और सुषमा में छप जाए। हालांकि बाद में धीरे-धीरे शमा और सुषमा दोनों अपनी पकड़ खोती चली गईं।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

Sangya Singh

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये