‘बेगम जान’ फिल्म से इम्प्रेस सेंसर ने निकाला नया फरमान, खुश हुए महेश भट्ट

1 min


फिल्म ‘बेगम जान’ 14 अप्रैल को सिनेमाघरों में आएगी और फिल्म की कहानी 1947 में हुए भारत और पाकिस्तान के विभाजन के समय की सच्ची घटना पर आधारित है जिसमें विद्या बालन एक कोठे की मालकिन की भूमिका में नजर आएंगी। दोनों देशों के बीच विभाजन की लकीर विद्या के कोठे के बीच से होने का फरमान सरकार सुनाती है जिसका विद्या विरोध करती है। इस फिल्म में गलियों की भरमार है लेकिन फिर भी सेंसर बोर्ड ने इसे पास कर दिया क्योंकि उनको भी लगा की फिल्म की कहानी में गाली की भी डिमांड थी इसलिए विद्या गालियों का इस्तेमाल करते हुए भी नजर आएंगी।

इस मौके पर प्रोड्यूसर महेश भट्ट ने सेंसर बोर्ड की तारीफ की है। अब आप पूछेंगे की अक्सर सेंसर बोर्ड से तो प्रोड्यूसर्स की ठनी रहती है फिर किसने सेंसर बोर्ड की तारीफ कर डाली तो वो हैं महेश भट्ट जिन्होंने सेंसर के एक नए नियम को लेकर सबसे पहले तारीफ़ की है। जिसके बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि, सेंसर ने एक नया रूल बनाया है कि, जब तक फिल्म को सेंसर से सर्टिफिकेट नहीं मिल जाता तब तक प्रोमो में फिल्म की रिलीज़ डेट नहीं डाल सकते। यह रूल काफी अच्छा है। इससे फिल्म के बिजनेस पर इफेक्ट नहीं होगा। इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि, ‘बेगम जान’ फिल्म को देखने के बाद सेंसर ने किसी प्रकार की कोई आपत्ती नहीं जताई। कही न कही सेंसर बोर्ड के सदस्य भी इस फिल्म से इमोशनली अटैच हुए।

SHARE

Mayapuri