यौन उत्पीड़न मामले में महेश भट्ट को बेजा गया नोटिस,जारी किया बयान, बोले- ‘तीन बेटियों का पिता हूं

1 min


फेमस फिल्म डिरेक्टर महेश भट्ट का नाम इन दिनों खूब चार्चा में है। एक तरफ जहां सुशांत सिंह राजपूत के केस में उनका नाम सबसे आगे लिया जा रहा है। तो दूसरी तरफ उनकी आने वाली फिल्म ‘सड़क 2’ के ट्रेलर को यूट्यूब पर लोगों ने बिल्कुल पसंद नहीं किया है। ओर इसके साथ ही महेश भट्ट पर काफी आरोप है कि वो एक निजी कंपनी का प्रचार कर रहे हैं जिसपर महिलाओं के यौन उत्पीड़न का केस दर्ज है। इस मामले में भट्ट को महिला आयोग की तरफ नोटिस भेजा गया, जिस पर महेश भट्ट जवाब दाखिल किया है।

दरअसल आईएमजी वेंचर्स नाम की कंपनी ने अपने इवेंट ‘मिस्टर ऐंड मिस ग्लैमर 2020’ में महेश भट्ट सहित उर्वशी रौतेला, ईशा गुप्ता, रणविजय सिंह, मौनी रॉय और प्रिंस नरूला का नाम इस्तेमाल किया। अब महिला आयोग इस कंपनी पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच कर रहा है। इसी के चलते इन सभी सेलेब्स को महिला आयोग की तरफ से नोटिस भेजा गया था।

महेश भट्ट और उनके होम प्रोडक्शन विशेष फिल्म्स ने तरफ से एक बयान जारी किया गया है। इसमें कहा गया है कि महेश भट्ट का आईएमजी वेंचर्स कंपनी के साथ कोई लेना-देना नहीं है। उनका नाम बिना सहमति के कंपनी ने इस्तेमाल किया। आधिकारिक बयान में महेश भट्ट ने लिखा है, ‘मैं राष्ट्रीय महिला आयोग को सलाम करता हूं कि उन्होंने ऐसी कुछ संस्थाओं को चिन्हित कर उन पर कार्रवाई की है जो इंडस्ट्री में महिलाओं संग यौन उत्पीड़न को बढ़ावा देती हैं। इस बात के लिए मैं महिला आयोग का आभारी हूं। मैं आज अपने ऊपर लगे आरोपों के संदर्भ में आयोग के सामने हाजिर हुआ। आईएमजी वेंचर्स ने नवंबर 2020 में अपने प्रमोशनल इवेंट मिस्टर और मिसेज ग्लैमर, 2020 में मेरा नाम का इस्तेमाल किया और मुझे अमंत्रण दिया कि मैं इवेंट का हिस्सा बनूं।’

 

महेश भट्ट ने आगे लिखा है, ‘मैं आयोग की चेयरपर्सन को स्पष्ट करना चाहता हूं कि मुझे इस इवेंट में मुख्य अतिथि के तौर पर अमंत्रित किया गया था लेकिन कोरोना वायरस की वजह से मैंने इसके लिए मना कर दिया था। इस इवेंट के लिए मैंने किसी भी प्रकार का कोई एग्रीमेंट नहीं किया था। लेकिन कंपनी ने मेरी सहमति के बिना मेरे नाम का इस्तेमाल किया। जब मैंने इस बारे में उनसे पूछा तो उन्होंने इसके लिए मुझसे माफी मांगी इसके बाद मेरी तस्वीर और नाम को हर जगह से हटा दिया गया।’इसके साथ ही महेश भट्ट ने लिखा है कि इस कंपनी से मेरा कोई भी वास्ता नहीं है। मेरे नाम का इस्तेमाल इसलिए किया गया ताकि उनके इवेंट में ज्यादा से ज्यादा लोग शामिल हो सकें। उन्होंने कहा, ’71 वर्ष की उम्र में मैं ज्ञान को साझा करने और सामाजिक कामों में योगदान करने में विश्वास रखता हूं। तीन बेटियों का पिता हूं और इस धर्मयुद्ध में पूरे सहयोग के लिए तैयार हूं।’

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये