‘मन की आवाज़ प्रतिज्ञा’ की टीम के साथ जब मैंने 9 साल बाद पहला सीन शूट किया..

1 min


*’मन की आवाज़ प्रतिज्ञा’ की टीम के साथ जब मैंने 9 साल बाद अपना पहला सीन शूट किया तब मुझे ऐसा बिलकुल नहीं महसूस नहीं हुआ कि इतना समय गुजर गया – अरहान बहल

*मन की आवाज़ प्रतिज्ञा 2 के सेट पर कलाकारों के पुनर्मिलन को देखना एक अनोखे मौके के समान था यह पॉज़िटिव एनर्जी सभी किरदारों की परफॉर्मेंस में झलकती है – अरहान बहल

साल 2009 में आए बहुचर्चित शो ‘मन की आवाज़ प्रतिज्ञा’ लगभग एक दशक बाद एक बार फिर दर्शकों के मनोरंजन के लिए अपने दुसरे सीजन ‘मन की आवाज़ प्रतिज्ञा 2’ के साथ लौटा है। चर्चित निर्माता राजन शाही और क्रिएटिव निर्माता पर्ल ग्रे द्वारा निर्मित इस शो की वापसी की खबर से ही दर्शक सातवें आसमान पर थे और अब यह शो दर्शकों का दिल जीतने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। इस शो से एक घरेलू नाम बनने वाले अभिनेता अरहान बहल दर्शकों को इस सीजन में एक फ्रेश कहानी और एक नए कृष्णा (किरदार का नाम) के रूप में नज़र आएँगे। शो के बारे में उनसे हुई ख़ास बातचीत के कुछ प्रमुख अंश:

इस बार ‘मन की आवाज़ प्रतिज्ञा 2’ में कृष्णा के किरदार में दर्शकों को क्या नया देखने को मिलने वाला है ?

इस शो की कहानी अब 9 साल आगे बढ़ चुकी है, इसलिए कहानी के फ्लो के साथ कुछ स्पष्ट बदलाव जरूर होंगे। हमेशा की तरह इस बार भी कृष्णा के रवैये में कोई बदलाव नहीं आया है लेकिन इस बार वह किसी भी तरह की गैरकानूनी कार्रवाई में शामिल नहीं होगा। अब वह एक साफ सुथरा व्यक्ति बन गया है, जिसका वास्ता कानून से दूर-दूर तक नहीं है, लेकिन आपकी ज़िन्दगी कभी भी आपको एक अनोखा उपहार दे सकती है।

आपकी और पूजा की केमिस्ट्री को खूब सराहा गया, क्या आपको लगता है कि प्रतिज्ञा 2 में एक बार फिर वही जादू आप चला पाएंगे ?

जब हमने लगभग 9 साल बाद अपना पहला सीन शूट किया, तब हमें ऐसा नहीं लगा कि हम इतने सालों के बाद एक साथ शूट कर रहे हैं। हमें किसी भी तरह के अंतराल का एहसास महसूस नहीं हुआ। सब कुछ स्वाभाविक रूप से शूट होता चला गया। निश्चित रूप से हम पर कोई दबाव नहीं है, लेकिन एक जिज्ञासा जरूर है कि यह शो अब हमारे अलावा बच्चों के साथ दर्शकों को कैसा दिखेगा और उन्हें कितना पसंद आएगा।

सज्जन सिंह का किरदार निभाने वाले अनुपम श्याम के साथ अब तक का आपका अनुभव कैसा रहा ?

उनके साथ काम करने का अनुभव पहले की तरह ही है। उनके साथ शूटिंग करने में हमेशा मजा आता है और इस बार भी उनके साथ काम करते हुए और उनसे सीखते हुए बहुत अच्छा लग रहा है।

एक सह-कलाकार के रूप में पूजा की ऐसी एक ख़ास बात जो आपको सबसे अधिक पसंद है?

वह एक को-स्टार के रूप में काफी स्पोर्टिंग और समझदार व्यक्ति रही हैं। हमारे बीच कभी कोई रचनात्मक मतभेद नहीं रहा। अगर कभी हमारे बीच शो से जुड़े किसी प्रकार के बदलावों को लेकर मतभेद आता भी है तो उसे हम साथ बैठकर और उसपर चर्चा करके उसका निष्कर्ष निकालते हैं।

‘मन की आवाज़ प्रतिज्ञा 2’ के साथ स्क्रीन पर दोबारा लौटते हुए आपको कैसा महसूस हो रहा है?

मुझे ऐसा महसूस हो रहा है मानो मैं अपने घर दोबारा लौट आया हूँ। इन कई वर्षों में मैंने कई अलग-अलग किरदार को निभाया, पर यह बिलकुल सही समय था जब आप अपने दिल के सबसे करीब रहने वाले किरदार को दोबारा निभाए। इस बार दर्शकों को बिलकुल नया कृष्णा देखने को मिलने वाला है।

‘मन की आवाज़ प्रतिज्ञा 2’ शो से आपकी क्या उम्मीदें हैं?

दर्शकों ने हमारे पहले सीजन पर अपने प्यार की बौछार कर दी थी और उन्होंने इस शो के दूसरे सीज़न के लिए बहुत लम्बे समय का इंतजार भी किया और यह कयास लगाकर बैठे थे की वह दोबारा कृष्णा और प्रतिज्ञा को साथ अपने टीवी स्क्रीन पर दोबारा देखेंगे और उनकी उम्मीदें पूरी हुई और हम दर्शकों से मिलने दोबारा लौट आए। अब बस हमें पूरी आशा है कि हम दर्शकों की उम्मीदों पर खरा उतरे जो हमारा लम्बे समय से इंतजार कर रहे थे।

क्या आप इस बार अपने किरदार की तैयारी के लिए किसी प्रकार की फिजिकल ट्रांसफॉर्मेशन से गुज़रे ?

कृष्णा के किरदार को निभाने के लिए इस प्रकार की किसी ख़ास तैयारी की आवश्यकता नहीं थी। मैं अपने किरदार के लिए बनाए गए फ्रेम में बिलकुल फिट बैठता हूँ। मुझे लगता है कि मुझे कुछ किलो घटाने की जरुरत है, जिसपर मैंने पहले से ही काम करना शुरू कर दिया है, लेकिन कृष्णा के लिए मुझे कोई बड़ी ट्रांसफॉर्मेशन की जरूरत नहीं है।

मन की आवाज़ प्रतिज्ञा 2 के सेट पर अपने सभी सह-कलाकारों से दोबारा मिलकर कैसा महसूस हो रहा है ?

इतने सालों बाद शो के हर एक पुराने किरदार से मिलकर बहुत अच्छा लगा। इस पुनर्मिलन को देखना एक अनोखे मौके के समान था जब सभी की पुरानी यादें ताज़ा हो गई और यह पॉज़िटिव एनर्जी सभी किरदारों की परफॉर्मेंस में झलकती है। मुझे लगता है कि हम सभी बहुत सौभाग्यशाली हैं जो पुराने पलों को दोबारा जीवित कर पा रहे हैं।

‘मन की आवाज़ प्रतिज्ञा 2’ पिछले सीजन से कैसे भिन्न होगा ?

कहानी 9 साल आगे बढ़ गई है तो जाहिर है कि यह वही से शुरू होगी होगा जहां हमने इसे सालों पहले छोड़ा था। शुरू में दर्शकों को कुछ सीन्स ऐसे देखने को मिलेंगे जहाँ पूरा परिवार विकसित कैसे हुआ यह देखेंगे। मैं इसे बदलाव नहीं कहना चाहता, लेकिन दर्शकों को फिर इसमें कुछ नयापन देखने को जरूर मिलेगा।

पिछले सीजन के कृष्णा ठाकुर ने अभिनेता अरहान को इस सीजन में परफॉर्म करने में कितनी मदद की ?

पिछले सीजन की शुरुआत में, मेरे लिए कृष्णा का किरदार निभाना मुश्किल था। इसे निभाने में मेरे सामने कई चुनौतियां आ रही थीं। हालांकि, मुझे चुनौतियां बहुत पसंद हैं और मेरा मानना है कि यह आपको एक बेहतर अभिनेता बनाती हैं। एक किरदार के रूप में कृष्णा अपने आप में बहुत कठिन किरदार है, इस किरदार की कई परतें हैं और इसी तरह और बहुत कुछ जिसके लिए मुझे अपने बेहतर ऑन-स्क्रीन प्रदर्शन की बेहतरी की दिशा में काम किया। पिछले सीजन में अपने किरदार के निर्माण में मैंने जो भी ये सभी प्रयास किए थे, वे एक बार फिर आज मुझे इसे निभाने में मदद कर रहे हैं। हालांकि, मेरे किरदार में कुछ बदलावों को जोड़ा गया है क्योंकि यह शो 9 साल बाद एक विकसित कहानी के साथ लौटा है। इस शो की वापसी पर मैं अपने दर्शकों और प्रशंसकों से उम्मीद करता हूँ कि वे एक बार फिर इस शो के साथ अपना जुड़ाव महसूस करेंगे।

आप दर्शकों को अपनी ओर से कोई संदेश देना चाहेंगे ?

मैं अपने दर्शक और प्रशंसकों को ढेर सारा प्यार देना चाहता हूँ, जिन्होंने मुझपर अपना विश्वास बनाए रखा और शो की शुरुआत पर उनकी बधाइयां और लम्बे – लम्बे संदेशों के लिए उनका बहुत-बहुत धन्यवाद। मैं आज जहाँ भी हूँ इसका श्रेय दर्शकों को जरूर जाता है। 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये