Advertisement

Advertisement

Browsing Category

क्लासिक डायमंड्स

“जिंदगी एक सफर है सुहाना यहां कल क्या हो किसने जाना” स्व.जय किशन

मायापुरी अंक 53,1975 जिंदगी एक सफर है सुहाना यहां कल क्या हो किसने जाना? ‘अंदाज’ का यह मार्मिक गीत जब कभी सुनायी पड़ता है तो आंखो के सामने उस गीत को जिंदगी के सुरों में बांधने वाले संगीत-निर्देशक स्व. जयकिशन का हंसता-मुस्कुराता…
Read More...

महेश भट्ट की ‘बादशाह’

मायापुरी अंक 53,1975निर्देशक महेश भट्ट की नयी फिल्म ‘बादशाह’ का श्री गणेश इसी माह हो रहा है। इस फिल्म के निर्माता तीन हैं। सुभा, इंदौरी, दीपक पई और अविनाश कपूर, संगीत निर्देशक हैं आर.डी. बर्मन फिल्म के प्रमुख कलाकार हैं विनोद खन्ना,…
Read More...

जहां मुर्दे जी उठते है

मायापुरी अंक 52,1975मुंबई की फिल्म-नगरी एक ऐसी जगह है जहां हर असंभव काम को संभव कर दिखाया जाता है एक सीन से हीरो के हाथों बड़े-बड़े पहलवानों को पटक कर गिराया जाता है। समुद्री जहाज समुद्र में डूब जाए, हवाई जहाज क्रैश को जाए या किसी मकान…
Read More...

फालतू लोगों के साथ काम करना पसंद नही करता – राजकुमार

मायापुरी अंक 54,1975फेमस स्टूडियो में गुमनाम साया के सैट पर बड़े दिनों के बाद राज कुमार से मुलाकात हो गई। मैंने नई फिल्म की मुबारकबाद देते हुए कहा, क्या बात है आजकल लोग आपकी फिल्में देखने को तरसते रह गये है? आदमी की जिंदगी पर उसके…
Read More...

शादी के संबंध में किशोर कुमार मेरे पसंदीदा हीरो नहीं रहे हैं! – योगिता बाली

मायापुरी अंक 53,1975आज अपने बारे में नित नई अफवाहें फैलाना फिल्म स्टारों की एक हॉबी बन कर रह गयी है इसीलिए जब भी कोई खबर मिलती है तो ऐसा प्रतीत होता है कि कहीं यह कोई ‘स्कैंडल’ तो नहीं है। और जब खबर किशोर कुमार से संबंधित…
Read More...

मैं शादी करके रहूंगी – लीना चंदावरकर

मायापुरी अंक 53,1975 फिल्मिस्तान स्टूडियो में रंगीला के सैट पर लीना चंदावरकर से भेंट हो गई। हमने कहा आप जिस रफ्तार से फिल्में साइन कर रही हैं, उससे लोगों के दिलों में आपकी शादी के बारे में शंका होने लगी है। क्योंकि हमने सुना था कि आप…
Read More...

इतने हास्य कलाकारों में से मुझे ही क्यों चुना गया? – असरानी

मायापुरी अंक 52,1975ऋषिकेश मुखर्जी जैसे सुलझे दूरदर्शी फिल्म निर्माता ने इतने हास्य कलाकारों में से असरानी को विमलराय कृत ‘चेताली’ फिल्म के लिए चुना आखिर क्यों? और भी तो खलनायक, हास्यकलाकार तथा चरित्र कलाकार ऐसे हैं…
Read More...

हवा में बातें करने वाला चॉकलेटी हीरो – नवीन निश्चल

मायापुरी अंक 54,1975 फेमस स्टूडियो में मेरी मुलाकात नवीन निश्चल से हो गई। मैं पूछा, नवीन जी मोहन जी (मोहन सहगल) की नई फिल्म संतान में आप काम नही कर रहे है इसका क्या कारण है? मोहन जी से हमारा ऐग्रीमेंट खत्म हो चुका है। अब मैं उनका पाबंद…
Read More...

हेमा मालिनी का भाग्य फिर चमका

मायापुरी अंक 54,1975 हेमा मालिनी का भाग्य फिर ऐसा चमका है कि वह शीघ्र ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर की हीरोइन बनने जा रही हैं। पाकिस्तान के चोटी के कलाकार मोहम्मद अली ने घोषणा की है कि वे शीघ्र ही मध्यकालीन युग की एक महान कहानी पर हॉलीवुड में…
Read More...

अमिताभ ने अपनी फैन को कमरे से बाहर किया

मायापुरी अंक, 57, 1975 अमिताभ बच्चन ने फिल्मी जिंदगी की परेशानियों के बारे में बताया कि एक बार वह किसी फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में बाहर गये हुए थे जब वह शूटिंग से लौटकर आए तो उन्होंने अपने कमरे में एक लड़की को आराम से उनका इंतजार करते…
Read More...