‘मायापुरी’ की अपील: खुद को करो ‘सेल्फ क्वाॅरेंटाइन’!

1 min


इलाज नहीं लेकिन बचाव तो संभव है

पूरे विश्व में कोरोना वायरस की वजह से हाहाकार मचा हुआ है। इस स्थिति में फिल्म इंडस्ट्री भला कैसे बच सकती है। फिल्म वालों ने जहां व्यक्तिगत तौर पर खुद को बंद कमरों में घेर लिया है वहीं फिल्म वालों द्वारा बनाये प्रोडक्टस (फिल्में, टीवी सीरियल्स, एलबम और वेब सीरीज) इन दिनों सभी के लिए घर में रहकर टाइमपास करने का श्रेष्ठ साधन बना हुआ है! फिल्मों की उपयोगिता का इससे अच्छा मौका कभी नहीं रहा। पर इन कोरोना आक्रमित हालात में खुद फिल्म वाले कैसे हैं, कैसे रह रहे हैं और क्या कह रहे हैं, आइये उनको भी देखते हैं-
पहले बात करेंगे बच्चन साहब और उनके परिवार की।
अमिताभ जी का ‘जलसा’ पूरी तरह आइसोलेटेड बंगला बन चुका है। परिवार का हर सदस्य अपने अपने कमरों में अपनी दिनचर्या बिता रहा है। उनकी आदतें भी वैसी ही है। अमिताभ जी ने हर रविवार को अपने चाहने वालों को दर्शन देने के लिए बंगले से बाहर दिखने का कार्यक्रम अगली सूचना तक रद्द कर दिया है और वह अपने हाथ पर ‘होम क्वाॅरेंटाइंड’ की स्टैम्प लगवा लिए हैं।
सलमान खान दिखना ही बंद हो गये हैं। जाहिर है कि उन्होंने खुद को आइसोलेट कर लिया है।
अक्षय कुमार और पत्नी ट्विंकल घर में  बैठकर भविष्य की प्लानिंग करने में जुटे हैं जिनमें फिल्म और ट्विंकल का साप्ताहिक काॅलम फनीबोन्स के लिए टाॅपिक ढूंढना है। अक्षय कुमार ने एक वीडियो शेयर किया है, होम क्वाॅरॅन्टीन स्टैम्प लगाने के बाद भी लोग फंक्शन, पार्टियों में घरांे में जा रहे हंै, ऐसे लोगों के साथ न खड़े हो ब्लकि घर तक छोड़ कर आये। देखा देखी सभी सितारे अपने आप को बंद करके रखना शुरू कर चुके हैं।
कुछ सितारे हैं जो जिम-प्रेमी हैं जैसे-शाहिद कपूर। ‘जिम’ के लिए अब सितारों ने ‘ओपेन जिम’ यानि खुली जगह पर व्यायाम का समय निर्धारित किया है।
सैफ अली खान अंग्रेजी किताब पढ़ते हैं और उनको हिन्दी में कैसे कहें, यह अभ्यास कर रहे हैं। करीना कपूर उनकी मदद करती हैं और अपने नये-नये सीखे इंस्टाग्राम पर लगी रहती हैं।
दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह, सोनाक्षी सिन्हा और दूसरे तमाम सितारे दिनोंदिन कोरोना के डर से घर में बैठे हैं-ना किसी से मिलना, ना किसी को बुलाना। बस, सबको सोशल मीडिया पर बचने का संदेश भेजने का काम कर रहे हैं। यानि – सितारे पूरी तरह खुद को आइसोलेट कर चुके हैं। फिल्म इंडस्ट्री का सारा काम बंद है। शूटिंग-फिल्म, सीरियल्स, एलबम सब बंद! पार्टी, मुहूर्त, आॅडिशन सब बंद! ‘रोज काम करना-रोज कमाकर खाना’ खाने वाले जूनियर कलाकार बेरोजगार हैं। फिल्मी स्ट्रगलरों के मीटिंग प्लेस -माॅल्स बंद हो गये हैं। वे जाएं तो कहां और खाएं कहां? की स्थिति में हैं। कुछ फिल्म यूनियनों ने ‘मुफ्त राशन’ बांटने की पहल पर काम शुरू किया है, पर कितने दिन! यह सवाल सबके मन में है।
‘मायापुरी’ सभी से अपील करती है कि जान है तो जहान है। घबराइये मत और पैनिक मत होइये। कोरोना वायरस ब्व्टप्क्.19 का अंत होना ही है। जिस तरह फिल्मों का विलेन अंत में मारा जाता है, हमारे जीवन में खतरा बनकर आ गया कोरोना वायरस रूपी विलेन भी जरूर खत्म हो जाएगा। दुनिया इसके खात्मे पर काम करने में जुटी है… बस, धैर्य रखिए और खुद को क्वाॅरेंटाइन कीजिए!


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये