‘Doordarshan’ की कास्ट के साथ मायापुरी की बातचीत के खास अंश

1 min


Doordarshan Cast, Interview of Doordarshan Cast, Talk with Doordarshan Cast

28 फरवरी को रिलीज़ होगी ‘Doordarshan’

28 फरवरी को लोगों को गुदगुदाने का दावा करने वाली फिल्म दूरदर्शन(Doordarshan) रिलीज़ होने जा रही है। फिल्म में जहां एक तरफ कुछ युवा व नए कलाकार नज़र आने वाले हैं तो वहीं इस फिल्म में डॉली अहलुवालिया, माही गिल(Mahi Gill) और मनु ऋषि चड्ढा सरीखे मंझे हुए कलाकार भी हैं। फिल्म के ज़रिए 80 व 90 के दशक की झलक आपको दिखाने की कोशिश की जा रही है। फिल्म एक कॉमेडी ड्रामा है जिसका सब्जेक्ट प्लॉट भी काफी नया है। मायापुरी ने इस फिल्म में नज़र आने वाले कुछ खास सितारों से बातचीत की। पेश है उस बातचीत के कुछ खास अंश।

1. संदीप आर्या

संदीप आर्या जी, प्रोड्यूसर के तौर पर अब तक का सफर कैसा रहा?

यह एक लाजवाब अनुभव था। यह मेरी पहली फिल्म है। सभी एक्टर्स  और पूरी कास्ट ने बहुत प्यार से काम किया। जो फिल्म के डायरेक्टर हैं, वो बहुत ही समझदार हैं। उन्होंने ये फिल्म पूरे दिल से बनाई है। मैं उम्मीद करता हूं कि ये एक अच्छी  फिल्म साबित होगी और लोग इसे पसंद करेंगे।

इस फिल्म की कास्टिंग कैसे हुई ?

आपको बता दें कि कास्टिंग के मामले में मैं काफी लकी रहा। कुछ को  नेशनल अवॉर्ड भी मिल चुका है जैसे डॉली अनुवालिया जी हैं। तो मुझे यह विश्वास है कि जो भी इस फिल्म की कास्ट चुनी गई है, अच्छी  ही होगी। हम बहुत खुशनसीब हैं कि माही जी ने इस फिल्म के लिए  हां कहा। डॉली अनुवालिया, मनोज बैनर्जी, राकेश शर्मा, आदित्य, महक मनवानी, अर्चिता, सुमित गुलाटी सभी को किसी ना किसी तरह से मनाया हमनें। ये सभी एक्टर्स  बहुत बिजी कलाकार हैं उनके पास टाइम नहीं था, पर जैसे भी करके हमनें इस फिल्म की शूटिंग दिल्ली के कनॉट प्लेस पर सर्दियों में शुरू की। एक प्रोड्यूसर होने के नाते मुझे हमेशा ये फिक्र रहती थी कि कोई बीमार न पड़  जाए। क्योंकि एक भी एक्टर अगर बीमार हो गया तो उस दिन की शूटिंग का शेड्यूल बेकार हो जाएगा, पर ऐसा कुछ नहीं हुआ।

बॉक्स ऑफिस पर फिल्म‘ ‘थप्पड़  ‘के साथ क्लैश होने पर क्या ख्याल है ?

‘थप्पड़ ‘ फिल्म एक  बहुत ही गंभीर और अलग  फिल्म है। यह एक सीरियस  टॉपिक है जो महिलाओं के साथ हो रहा है और महिलाएं इस चीज़ को बहुत हलके में लेती हैं। हम इस विषय पर इस फिल्म का सपोर्ट करते हैं। लेकिन हमारी फिल्म  उससे एकदम  अलग है। हमारी ये फिल्म एक कॉमेडी मूवी है। जिसमे पारिवारिक रिश्ते जैसे – माँ बेटे का रिश्ता, बाप -बेटे का रिश्ता, सास -बहू का रिश्ता शामिल है। हमारी फिल्म आपको गुदगुदाने वाली और इमोशनल है। तो थप्पड़ और हमारी फिल्म का कॉन्सेप्ट एकदम अलग है। मुझे नहीं लगता कि इन दोनों फिल्म में कोई मैच है, मैं तो कहूँगा आप दोनों ही फिल्में देखें।

2. सुमित गुलाटी

फिल्म भाग मिल्खा भाग से लेकर दूरदर्शन(Doordarshan) तक का आपका सफर कैसा रहा ?

बहुत बढ़िया रहा, मज़ेदार रहा और इंट्रेस्टिंग रहा। खुद को जानने का मौका मिला और लोग मेरे काम पर कितना भरोसा करते हैं, वो जानने का मौका मिला। उतार-चढ़ाव तो लाइफ में आते ही रहते हैं और आएंगे, ये तो पार्ट ऑफ द गेम है। मुझे अलग-अलग तरह के किरदारों को करने का भी मौका मिला।

आपने पहले भी कई फिल्म्स में कॉमेडी कैरेक्टर किया है, तो इस कैरेक्टर में और पहले के कैरेक्टर्स में क्या अंतर है ?

इस रोल की खास बात ये है कि पहली बार मैं दिल्ली वाले का कैरेक्टर प्ले कर रहा हूं। इससे पहले मैंने एक फिल्म की थी। जिसका नाम था ‘तितली’, लेकिन इस फिल्म का डार्क ज़ोन काफी था। हालांकि, ये फिल्म भी रियलिस्टिक है, लेकिन इस फिल्म में फ्रेशनेस और ह्यूमर ज्यादा है। ‘तितली’ में भी दिल्ली वाला स्लैंग था, लेकिन ‘दूरदर्शन’(Doordarshan) में पूरी तरह से दिल्ली वाले लड़के के किरदार में हूं। ऐसा रोल मुझे पहली बार करने का मौका मिला है।

फिल्म में आपका फेवरेट पार्ट या फेवरेट सीन कौन सा है ?

जो आपने ट्रेलर में देखा है कि जब दादी जागती हैं विमला के लिए, जब वो सीन हम कर रहे थे। हम उसमें बोलते हैं माता आ गईं, माता आ गईं। वो सीन बहुत मज़ेदार है और मेरा फेवरेट सीन है। उसके अलावा फिल्म में बाकी जो एक्टर्स हैं, जैसे मनुऋषि सर, माही जी, शार्दूल और महक, डॉली जी, सुप्रिया जी जितने भी एक्टर्स हैं, इन सबसे सीखने का बड़ा मौका मिला। फिल्म की स्क्रिप्ट बहुत अच्छी लिखी गई है।

अपने अपकमिंग प्रोजेक्ट्स के बारे में कुछ बताइए ?

अपकमिंग प्रोजेक्ट्स में सबसे पहले तो हमारी ये फिल्म ‘दूरदर्शन’(Doordarshan) 28 फरवरी को रिलीज़ हो रही है। उसके अलावा मेरी फिल्म है ‘रूही अफ्ज़ाना’, जो कि अप्रैल में रिलीज़ होगी। उसके बाद है ‘तड़प’। उसके बाद एक पंजाबी प्रोजेक्ट है। इसके अलावा दो प्रोजेक्ट्स और भी हैं जो अभी लाइनअप हैं और अनटाइटल्ड हैं अभी।

3. महक मनवानी

बतौर एक्टर अब तक जर्नी आपके लिए कितनी स्ट्रगलिंग रही है ?

मैं जब साढ़े तीन साल की थी तब मैंने चाइल्ड मॉडलिंग से शुरूआत की। तो पढ़ाई के साथ-साथ मैं प्रिंट और कमर्शियल करती रहती थी। एक्टिंग के बारे में नहीं सोचा..मैं केवल मॉडलिंग ही कर रही थी। लेकिन जब मैं 15 साल की थी तब मैंने अपनी डेब्यू फिल्म की थी जो दिल्ली में ही शूट हुई। तब मैंने कभी मूवीज़ के बारे में सोचा तो नहीं था लेकिन मैंने ऑडिशन दिया और वो काम कर गया। फिर मैंने एक्टिंग को इन्जॉय किया, मैने टीवी भी किया लेकिन मैं क्लियर थी कि मुझे पढ़ाई पहले पूरी करनी है। मैंने अपनी स्कूलिंग और ग्रेजुएशन कम्प्लीट की। और जब – जब मौके मिलते गए मैं काम भी करती गई। और स्ट्रगल तब शुरू हुआ जब मैं दिल्ली से मुंबई शिफ्ट हुई। मैं दिल्ली को काफी मिस करती हूं लेकिन मेरा काम मुंबई में ही है। और यही मेरे लिए स्ट्रगल है कि मुझे दिल्ली से दूर मुंबई में शिफ्ट होना पड़ा।

शूटिंग के दौरान बेस्ट मेमोरी आपकी कौन सी है?

ओपनिंग सीन, अगर आपने ट्रेलर देखा है जहां मैं कपड़े सुखा रही होती हूं। तो वो सीन सबसे ज्यादा फनी सीन है। उसकी शूटिंग के दौरान ही हम इतना हंस रहे थे। तो लोगों को भी ये काफी पसंद आने वाला है। मुझे अभी भी याद है कि हम इस सीन को शूट करते हुअ कितना हंस रहे थे।

अपने अपकमिंग प्रोजेक्ट्स के बारे में कुछ बताइए ?

मैं इसके बाद भूल भूलैया 2 में कियारा आडवाणी की छोटी बहन के किरदार में नज़र आउंगी।

4. अर्चिता शर्मा

ये फिल्म दर्शकों को क्यों देखनी चाहिए ?

हमें कोई चीज़ तब ज्यादा पसंद आती है जब हम उसके साथ जुड़ पाते हैंय़ जैसे हमारे माँ – बाप  खास तौर से इस फिल्म से जुड़ पाएंगे। मैं भी 90 की जनरेशन की हूँ जब दूरदर्शन(Doordarshan) पर शक्तिमान ,राजा रेंचो ,तलाक क्यों… आता था।

अगर आपको बॉलीवुड के किसी बड़े एक्टर के साथ काम करने का मौका मिले तो आप किसके साथ काम करना चाहेंगी  ?

अगर मुझे ऐसा मौका मिले किसी बड़े एक्टर के साथ काम करने का तो मैं किसी भी बड़े एक्टर  के साथ काम करना चाहूंगी क्योकि हर एक्टर से कुछ न कुछ सीखने को ही मिलेगा। जैसे  मैंने डॉली जी और माही जी के साथ काम किया उन दोनों के एक्सपीरिएंस से मुझे काफी कुछ सीखने को मिला। कोई भी प्रोडक्शन हाउस हो, डायरेक्टर हो, एक्टर – एक्ट्रेसेस हो आपको हमेशा कुछ सीखने को ही मिलता है।

आपको गाने का शौक है  ,क्या फिल्म में आपका कोई गाना है ?

इस फिल्म में मेरा कोई गाना तो नहीं है, पर हां ! मैं जल्द ही यू ट्यूब पर अपना चैनल बनाउंगी।

5. शार्दुल राणा

 ‘दम लगा के हईशा’ से लेकर ‘दूरदर्शन’ तक का सफर कैसा रहा ?

‘दम लगा के हईशा’ के लिए जो मेरा ऑडिशन हुआ था वो शरद कपाड़िया सर ने लिया था यश राज बैनर के लिए, उसके बाद मेरी दूसरी फिल्म जंगली पिक्चर्स के अंडर आई ‘बधाई हो’ जो आप सब ने देखी होगी और उस फिल्म को नेशनल अवार्ड मिला और उसके डायरेक्टर थे अमित शर्मा। और अब जो मेरी तीसरी फिल्म है वो है दूरदर्शन(Doordarshan) जो कि एक बहुत अच्छा टाइटल है और आर्य फिल्म्स के अंडर वो बनी है और उसके निर्देशक हैं गगन पूरी,  तो मेरा सफर बहुत अच्छा रहा अभी तक

दूरदर्शन फिल्म में हमे कितना 90 का दशक देखने को मिल सकता है?

दूरदर्शन आपको आधी फिल्म 1990 के दशक की ही देखने को मिलेगी। सब कुछ आपको दिखाया जाएगा कि उस वक़्त घर में ऐंटिना हुआ करता था और भी काफी चीज़ें देखने को मिलेंगी। हमने पूरा सेटअप किया 1990 का और पुरानी चीज़ों का सेटअप करना भी एक बहुत बड़ा चैलेंज था। हमारा टीवी और घर का फर्नीचर सब कुछ हमने 1990 का दिखाया है।

अपने चाहने वालों के लिए कोई मैसेज देना चाहेंगे ?

मैं यही कहूंगा कि आप मेरे कैरेक्टर को देखिये , सनी जो मेरा कैरेक्टर है। अपने जो व्यूज है वो मुझे बताइये ताकि मैं उसे आगे चल कर और बेहतर कर सकूँ।

और पढ़ेंः फिल्मों में आने से पहले ही पति से अलग हो चुकी थीं माही गिल, अब बिजनेसमैन से है अफेयर


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये