मिलिए भारतीय फ्लूट कलाकार पारस नाथ से जिन्होंने भारत को वैश्विक स्तर पर प्रतिनिधित्व किया।

1 min


पारस नाथ, वाराणसी के संगीतकारों के प्रसिद्ध परिवार से हैं, जिन्होंने पारम्परिक रूप से ये संगीत कला ढाई शताब्दियों तक निभाया है, पारस नाथ को विरासत में ही संगीत मिला है। पारस नाथ ने अपने गुरु – अपने दादा- स्वर्गीय पं. शिव नाथ जी की मदद से विरासत में मिली संगीत प्रतिभा की मदद से महारती हासिल की।
पारस जिन्होंने कई वर्षों से शास्त्रीय संगीत (भारतीय शास्त्रीय संगीत) के क्षेत्र में प्रवेश किया है वह यह मानते है कि “बांसुरी की ध्वनि लोगों के हित को लुभाती है और भगवान श्री कृष्ण के समय से यह युगों से चली आ रही है। “बांसुरी की ध्वनि मन को शांत महसूस करने का एक शानदार तरीका है। हम आज डिजिटल युग में जी रहे हैं, लेकिन बांसुरी द्वारा निर्मित सुंदर ध्वनि को किसी भी डिजिटल डिवाइस द्वारा प्रतिस्थापित नहीं किया जा सकता।”
उनकी समृद्ध विरासत संगीत की पृष्ठभूमि और बांसुरी के साथ खेलने की उनकी प्राकृतिक प्रतिभा ने उन्हें भारतीय धरती का गौरव हासिल करने का उन्हें सौभाग्य दिया। पारस नाथ ने जर्मन फिलहारमोनिक कॉन्सर्ट हॉल में अंतर्राष्ट्रीय मंच पर  भारतीय शास्त्रीय संगीत का प्रतिनिधित्व किया।
लंदन, अफ्रीका, तुर्की, इस्तांबुल जैसे अन्य देशों के संगीत अग्रदूतों के साथ, वाद्य यंत्र बांसुरी बजाने में नए युग के पारस नाथ ने जर्मन फिलहारमोनिक कॉन्सर्ट हॉल में भारत का प्रतिनिधित्व किया। “अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत को प्रतिनिधित्व करना मेरे लिए पूर्ण सम्मान था। किसी भी भारतीय के लिए दुनिया भर में भारतीय ध्वज का गौरव बढ़ाना गर्व की बात है। मैंने दुनिया भर से कुछ उत्कृष्ट प्रतिभाओं के साथ मंच साझा किया और उनसे बहुत कुछ सीखा।”
हाल ही में पारस नाथ ने अपने पिता पंडित अमर नाथ और बड़े भाई पंकज नाथ के साथ “वैकुण्ठविणु” नाम से यूट्यूब, इंस्टाग्राम और फेसबुक पेज पर अपने दादा पंडित शिव नाथ प्रसाद जी को श्रद्धांजलि के रूप में लॉन्च किया। भारतीय संगीत के काफ़ी बड़े संगीतकारों ने उनकी पहल की सराहना की।
इस साल कृष्ण जन्माष्टमी के पवन अवसर पर पारस नाथ और पूरा वैकुण्ठवेणु का परिवार मन की शांति और श्री कृष्णा जी के खास दिन मनाते हुए वैकणठ वेणु  के फेसबुक पेज श्री कृष्ण जी के भक्ति गीत सुनाएंगे।
हमें उम्मीद है कि वह आने वाले समय में देश के लिए ऐसी ही उच्च प्रसंशा प्राप्त करेंगे और भारत को पुरे वैश्विक स्तर मैं गौरवान्वित करेंगे।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये