मदर्स डे पर कलाकारों की राय

1 min


श्वेता क्वात्रा ऊर्फ सब टीवी के बाल वीर की भयंकर परी:
मां एक खिताब नहीं है, जो बच्चे के जन्म के बाद एक महिला के साथ जुड़ जाता है। यह एक महिला का ही दर्द भुला देता है और वह अपनी तलाश करना बंद कर देती है। वह अपने अंदर की इस शक्ति को देखती है और अगले कुछ दिनों/हफ्तों/वर्षों के लिये इसकी साक्षी बनती है। मातृत्व सभी मानवीय क्रांतियों की जननी है। मेरी बेटी के साथ मेरी मासूमियत भी लौट आई और उसकी मां होना ‘मेरे लिये सम्मान का प्रतीक‘ है। मुझे पूरा भरोसा है कि हर मां को ऐसा ही महसूस होता होगा। इसलिये, मैं सभी मांओं को इस अवसर पर मदर्स डे की शुभकामनायें देती हूं।
shweta

तनाज ईरानी ऊर्फ सब टीवी के बड़ी दूर से आये हैं की लीजा डि‘सूजा:
मैं सिर्फ इतना कह सकती हूं कि मुझे खुशी है कि एक दिन हम मांओं के नाम है, क्योंकि हम अपना हर दिन अपने बच्चों को समर्पित करते हैं। लेकिन सच कहूं तो ऐसी कोई भी जगह नहीं है, जहां मैं अपने बच्चों को छोड़कर जाना चाहूंगी। मेरा परिवार हमेशा इस दिन को मेरे लिये खास बनाता है और हर वह चीज करने का प्रयास करता है, जिसमें मुझे मजा आता हो। लेकिन मैं तब भी खुश रहती हूं, जब मैं उनके साथ होती हूं। इस दिन मेरे बच्चे मेरे लिये जो कार्ड्स बनाते हैं, वह मुझे बहुत अच्छा लगता है। मैं इस अवसर पर सभी मांओं को मदर्स डे की शुभकामनायें देना चाहूंगी।

tanaaz

सुचेता खन्ना ऊर्फ सब टीवी के पीटरसन हिल की पिंकी चड्ढा:
मैं वाकई में अपनी मां को बहुत प्यार करती हूं और हर दिन उनकी गैरमौजूदगी मुझे खलती है। मैं उनकी अच्छी सेहत के लिये प्रार्थन करती हूं और उम्मीद है कि वह जहां भी रहें, स्वस्थ रहें। मैं इस अवसर पर सभी मांओं को मदर्स डे की शुभकामनायें देना चाहती हूं।

20130924071804_Sucheta-Web.

मानसी श्रीवास्तव ऊर्फ सब टीवी के पीटरसन हिल की शताब्दी:
मेरी मां चंडीगढ़ में रहती है। हम एक-दूसरे से काफी दूर रहते हैं, लेकिन वह हमारे दिल के बेहद करीब है। कहा जाता है कि आप जिस व्यक्ति से सबसे अधिक प्यार करते हैं, उसके साथ सबसे ज्यादा झगड़ा भी करते हैं और मेरे मामले में यह बिल्कुल सही है। मां के प्यार को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है और उनका प्यार वाकई में निःस्वार्थ होता है। वे धरती पर भगवान की तरह होती हैं। काश मैं इस खास दिन पर उनसे खुद जाकर मिल पाती, लेकिन यदि ऐसा नहीं कर सकती हूं, तो उन्हें और डैड को निश्चित रूप से कोई सरप्राइज दूंगी तथा उम्मीद है कि कम-से-कम वे साथ में अच्छा समय बिता पायें।

mansi

रूपाली भोसले ऊर्फ सब टीवी के बड़ी दूर से आये हैं की वर्षा घोटाला:
मेरी मां और मेरा रिश्ता प्यार से जुड़ा है। मुझे पता है कि मेरे लिये मेरी मां की प्रार्थनाओं का अंत नहीं है, जो कि मुझे कड़ी मेहनत करने की शक्ति देता है और इसी की बदौलत आज मैं सफल हूं। मैं वाकई में अपनी मां से प्यार करती हूं और उनका सम्मान करती हूं। इस दिन को मैं अपनी मां के लिये एक खास दिन बनाने का प्रयास करती हूं और इस अवसर पर दुनिया की हर मां को मदर्स डे की शुभकामनायें देना चाहूंगी।

Tejashri-Pradhan

सब टीवी के हंसी है हंसी मिल तो ले के गौरव गेरा:
दुनिया की नजर में आप मेरी मां है, लेकिन मेरे लिये आप मेरी दुनिया हैं। मैं जो भी हूं और जो भी बनने की उम्मीद करता हूं, उन सभी का श्रेय मेरी मां को जाता है। मेरे साथ हमेशा रहने के लिये धन्यवाद मां और आपको मदर्स डे की ढेर सारी शुभकामनायें।

53022_gaurav-gera

अदिति साजवान ऊर्फ सब टीवी के चिडि़या घर की कोयल घोटक नारायण:
एक मां के प्यार में कोई स्वार्थ नहीं होता है। मां के कारण ही हमारा अस्तित्व है और उनके आर्शीवाद से हम समृद्ध होते हैं। कभी-कभी वह बच्चों को लेकर सख्त और अकारण हो जाती हैं, लेकिन अंत में वह वाकई में हमारी खुशियां चाहती हैं। मैंने अपनी मां को जिंदगी की सबसे बड़ी बाधाओं का सामना सकारात्मक नजरिये और साहस के साथ करते देखा है, जो कई लोगों में नहीं नजर आता। वह शक्ति का प्रतीक हैं और मेरे लिये उम्मीद हैं। उन्होंने अपनी ओर आ रहे किसी भी नकारात्मक भाव को मेरे लिये एक सकारात्मक बल में बदला है। और इन सभी बलिदानों तथा हमारे जीवन में योगदानों के बावजूद वह इसका श्रेय नहीं लेती हैं। मेरी मां हमेशा कहती हैं- ‘‘तुम राजकुमारी तभी हो सकती हो, जबकि तुम्हारे पिता राजा हों, इसलिये उनके साथ हमेशा वैसा ही व्यवहार करो।‘‘ एक अभिनेत्री के रूप में एक मां का किरदार निभाना भावनात्मक रूप से एक साहसिक काम है। असली जिंदगी में मां होना निश्चित रूप से एक बड़ी चुनौती और जिम्मेदारी है। मुझे उम्मीद है कि नई पीढ़ी की हम लड़कियां इस जिम्मेदारी को भलीभांति समझते हैं, जब हम मां बनते हैं। मैं सभी मांओं को सलाम करती हूं और इस अवसर पर सभी मांओं को मदर्स डे की शुभकामनायें देना चाहती हूं।

aditi

मानव गोहिल ऊर्फ सब टीवी के यम हैं हम के यम:
मैं एक कविता के माध्यम से अपनी मां के प्रति अपना प्यार व्यक्त करना चाहता हूं, और वह कविता है –
She wrapped me around,

she still does.

With her desire to see us happy, with her actions

that at times went unnoticed,

with her palm soothing me to sleep or waking me

She wrapped me around,

she still does.

With every morsel she fed us claiming her

satisfaction,

With the love she tended an ailing me,

with the warmth of her heart,

She wrapped me around, she still does, and she

eternally will, my Ma!!

Manav Gohil

देव जोशी ऊर्फ सब टीवी के बाल वीर के बाल वीर:
मेरी मां मेरी शक्ति का आधार है। वह मेरी जिंदगी में सबसे महत्वपूर्ण और अद्भुत इंसान है। मैं नहीं जानता कि उनके बिना मैं क्या होता और इस दिन को मैं उनके लिये खास दिन बनाने का प्रयास करता हूं और मुझे उम्मीद है कि उन्हें यह अच्छा लगता है। मैं इस दिन यह दिखाने का प्रयास करता हूं कि वह मेरे लिये कितनी खास हैं।

DevJoshi01


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये