मूवी रिव्यू: बेहतरीन अभिनय ‘मोतीचूर चकनाचूर’

0 48

रेटिंग***

शहरों में रह रहे मघ्यवर्ग की अपनी समस्यायें और सपने होते हैं, जिन्हें लेकर वे न जाने क्या कुछ दुष्वारियां झेलते रहते हैं। निर्देशक देवा मित्रा बिस्वाल की फिल्म ‘ मोतीचूर चकनाचूर’ में इन्हीं समस्याओं को उजागर करने की कोशिश की है।

कहानी

भोपाल की अनीता उर्फ एनी यानि अथिया शेट्टी शादी के लिये लगातार लड़के रिजेक्ट कर रही है। दरअसल उसे किसी एनआरआई लड़के से षादी करनी है जिसके साथ उसने विदेश में रहते हुये अपनी फोटो सोशल मीडिया पर डालनी है। पुष्पेन्द्र त्यागी यानि नवाजुद्दीन सिद्दीकी सात साल बाद दुबई में नोकरी करने के बाद वापस भोपाल आया है। दरअसल उसके कंधों पर शुरू से ही पूरे परिवार का बोझ लदा रहा, लिहाजा 36 साल का होने के बाद भी वो अभी तक शादी नही कर पाया। अब वो कैसी भी लड़की से शादी कर घर बसाना चाहता है। अनीता को जब पुष्पेन्द्र के बारे में पता चलता है तो वो लंदन अमेरिका ने सही दुबई ही सही समझ उससे नकली प्यार जता शादी कर लेती है। लेकिन उसे उस वक्त गहरा आघात लगता है जब उसे पता चलता है कि पुष्पेन्द्र की दुबई की नोकरी जा चुकी है लिहाजा उसने अब भोपाल में रहकर कह कुछ नया करने का मन बनाया है। अब आगे अनीता का अगला स्टैप क्या होगा ,ये फिल्म देखने के बाद पता चलेगा।

अवलोकन

कहानी की शुरूआत बेहतर ढंग से होती है। पहले भाग में फिल्म की धीमी गति रहती है लेकिन बाद में कहानी दिलचस्प होने लगती है हांलाकि निर्देशन ने कॅरेक्टर्स बहुत ही धीमे धीमे रजिस्टर्ड किये। फिल्म की कामिक टाइमिंग अच्छी है इसीलिये सिचवेशन काफी मजेदार हैं और उनपर दर खिलखिलाने पर मजबूर है। एक वक्त था जब रीजनल भाषा का प्रयोग फिल्मों में कम ही होता था, लेकिन अब तो फिल्मो में बेधड़क भाषाई संवाद यूज किये जाते हैं जैसे इसी फिल्म में भोपाल में बोले जाने वाले कुछ लोकप्रिय शब्द जैसे हमायी तुमायी या मोड़ा मोड़ी खूब इस्तेमाल किये हैं। म्यूजिक की बात की जाये तो क्रेजी लगदी और छोटी छोटी गल जैसे गीत बढिया बन पड़े हैं।

अभिनय

सभी कलाकारों का अभिनय ही फिल्म की यूएसपी है। नवाजू जिस प्रकार फनी संवाद भी इतनी सहजता से बोल जाते हैं कि वे अपने आप ही मजेदार लगने लगते हैं । सबसे बड़ी बात कि नवाजू किसी भी किरदार के साथ पूरी तरह घुलमिल जाते हैं। अथिया की बात जाये तो इस बार वे अपने अभिनय से बार चौकाती हैं,  उन्होंने अपने लुक्स के अलावा भाशा से खूब मनोरजंन किया है। सह कलाकारों में अवनी परिहार, विभा छिब्बर, करूणा पांडे, अभिषेक रावत तथा उषा नायर आदि ने मुख्य कलाकारों का अपने अभिनय से भरपूर साथ दिया।

क्यों देखें

हल्के फुल्के पारिवारिक हास्य के लिये फिल्म मोतीचूर चकनाचूर देखी जा सकती है।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

Advertisement

Advertisement

Leave a Reply