भारतीय संस्कृति को दर्शाती फिल्म ‘आई लव देसी’

1 min


फिल्म के शीर्षक से ही इस बात का अहसास होता है कि इसके कैरेक्टर्स वेस्टर्न कल्चर को छोड़ अपनी मिट्टी की खुशबू को महसूस करना चाहते हैं। वे ठेठ देशीपन में खुद को ढालना चाहते हैं, लेकिन ऐसा माहौल विदेशों में नसीब नहीं होता। वे अपनी संस्कृति में खुद को ढालना और जीना चाहते हैं। हम बात कर रहे हैं फिल्म आई लव देसी की। फिल्म की पृष्ठमूमि कनाडा और पंजाब की है। पंजाब और कनाडा का अटूट रिश्ता है क्योंकि इस राज्य ने कनाडा को कई प्रतिभाशाली युवक दिए हैं, पर यहां बात टैलेंट की नहीं, वैल्यूज़ की है। भले ही पंजाब से कई महत्वाकांक्षी युवक पैसा कमाने की चाह में कनाडा जाकर बस गए हों, पर बात संस्कारों की आती है कि वो आज विदेश में जाकर किस स्थिति में हैं या फिर किस माहौल में जी रहे हैं।
Ilove desi

इस सवाल के जवाब में क्या हम यह कह सकते हैं कि दूर के ढोल सुहावने हैं। फिल्म के निर्माता राॅकी देसवानी और सह-निर्माता धर्मेंद मेहरा ने कुछ तो सोचा ही होगा कि अनिवासी भारतीयों के दर्द और देश के प्रति उनकी सच्ची निष्ठा और प्यार को परदे पर उतारा जाए ताकि युवाओं के लिए यह फिल्म एक मिसाल बन सके। फिल्म के नायक वेदांत बाली और नायिका प्रियंका शाह हैं। वेदांत पंजाब से हैं इौर अक्षय कुमार के सिहचव बसली के बेटे हैं, जो पंजाब सिंह का कैरेक्टर प्ले कर रहे हैं और प्रियंका शाह सिमरन के रूप में अपनी इंटेलिजेंसी, इरोगेंट नेचर और क्लासी गर्ल के रूप में प्रेजेंट हो रही हैं। प्रियंका के लिए यह किरदार निभाना मुश्किल नहीं रहा क्योंकि वह ग्लैमर वल्र्ड से हैं और 2007 में मिस इंडिया टूरिज्म रह चुकी हैं। उसकेे बाद न जाने कितने ही रैंप शोज़ ने उन्हें फैशन जगत की विख्यात माॅडल के रूप मे स्थापित कर दिया लेकिन उन्हें उम्मीद नहीं थी कि वह एक दिन सिल्वर स्क्रीन पर एक्ट्रेस के रूप में प्रेजेंट होंगी।

I lov desi 1

बता दें कि प्रियंका आई लव देसी की नायिका हैं जिन्होंने फिल्म में वेस्टर्न कल्चर को जिया है। प्रियंका फिल्म की कहानी नहीं बताना चाहती लेकिन वह यह कहना नहीं भूलती कि अपने प्रदेश की सौंधी मिट्टी की खुशबू को महसूस करने की बजाय विदेश जाने की चाह रखने वाले युवाओं का भविष्य अपेक्षाकृत सुखद नहीं हो सकता। उन्हें अपने संस्कारों से जुड़ना ही होगा। फिल्म की कहानी को इस तरह से पिरोया गया है कि उसमें मैसेज के साथ-साथ रोमानी एंगल भी हो। फिल्म की शूटिंग कनाडा, बैंकाक और मनाली में की गई है। फिल्म में गुलशन ग्रोवर और पंजाब के फेमस घुग्गी का अहम रोल है।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये