मूवी रिव्यू: ‘‘पर्यावरण,प्रदूषण तथा नस्लीय भेदभाव जैसे सवाल उठाती फिल्म’’ ‘ ऐसा ये जंहा’

1 min


रेटिंग ***

खोली एन्टरटेनमेंट्स द्धारा निर्मित और लेखक निर्देशक अभिजीत बौरा द्धारा निर्देशित फिल्म ‘ऐसा ये जंहा’ के द्धारा एक साथ कई सवाल खड़े करने की कोशिश की है जैसे पर्यावरण, प्रदूषण, नस्लीय भेदभाव तथा गांवों को नजर अंदाज करना आदि । फिल्म में ये सारे सवाल काफी अच्छे तरीके से उठाने की कोशिश में कहानी अपने आप में ही उलझ कर रह जाती है।

कहानी

पलाश सेन और उसकी अति महत्वाकाक्षी पत्नि इरा दूबे मुबंई में रह कर नौकरी करते हैं उनकी एक छोटी सी बेटी है तथा उन्हीें के गांव और राज्य आसाम की लड़की हैं जो उनके घर पर काम करती है । पलाश अपनी जन्म भूमि के आज भी बहुत करीब है जबकि उसकी बीवी शहरी जिन्दगी में पूरी तरह रम चुकी ऐसी महत्वाकांक्षी औरत है जिसे सब कुछ बड़ा और आलीशान चाहिये ।

aisa-ye-jahan3

पलाश और उनकी नौकरानी ही हर पल अपने गांव को याद करते हैं । इरा आगे चलकर अपनी जरूरतों को पाने की संभावानायें अपनी छोटी बेटी में देखती हैं और एक दिन वो उसे माॅडल बनाकर पैसा कमाना शुरू कर देती हैं इन बातों से परेशान पलाश कुछ नहीं कर पाता । लेकिन एक दिन इरा को अहसास होता है कि उसे अपने पति और अपनीे बेटी के भविष्य पर भी ध्यान देना चाहिये ।

निर्देशन

विश्वजीत बौरा की ये पहली फिल्म है । गांव और शहरों के बीच बढ़ती दूरी शहरों के रूप में बनता हुआ कंकरीट का घना जंगल, जिनमें पेड़ पोधे स्वाह होते जा रहे हैं आदमी मशीन बना हुआ है वो बस बहुत कुछ पाने के लिये अपनों को भूल कर दौड़ रहा है । इसके अलावा नार्थ ईस्ट के लोगों के प्रति अज्ञानतावश आसमीयों को नेपाली या चीनी समझ उन्हें बेइज्जत करना आदि ढेर सारे निर्देशक द्धारा उठाये जाने वाले सवालों को लेकर उसका आक्रोश तो झलकता है लेकिन एक साथ बहुत सारे सवालों को उठाती हुई कहानी अपने में ही उलझकर रह जाती है ।

Dr-Palash-Sen-and-Ira-Dubey-in-Aisa-Yeh-Jahaan

फिर भी इन सारे सवालों को उठाने के लिये निर्देशक की प्रशंसा तो की ही जानी चाहिये । निर्देशक ने मुबंई की आपाधापी और साथ रहते हुए एक दूसरे से अंजान लोगों की कार्य शैली तथा आसाम की खूबसूरती को बढि़या ढंग से दिखाया है । यही नहीं वे एक हद तक फिल्म के माध्यम से अपनी बात कहने में सफल भी हुआ है ।

अभिनय

फिल्म में पलाशसेन जो बेसिकली सिंगर हैं ने अपनी भूमिका को सहजता से निभाया है । उनकी पत्नि तथा अति महत्वाकांक्षी औरत की भूमिका में इरा दूबे ने अभिनय से अच्छे रंग भरे हैं । छोटी बच्ची की मासूमियत अच्छी लगती है असमी किसान की भूमिका में यशपाल शर्मा अपने बढि़या अदाकार होने का सुबूत देते हैं ।नोकरानी की भूमिका निभाने वाली अदाकारा भी प्रभावित करती है। सहयोगी भूमिकाओं में परिशा डबास,सतीश शर्मा सौरभ पांडे आदि ने अच्छा काम किया है ।

Aisa Yeh Jahaan 2015 New Indian Film Starring Palash Sen Ira Dubey and Kymsleen Kholie

संगीत

पलाश सेन की कंपोजिंग में कुछ गाने बहुत ही बेहतरीन बने हैं, जो हिट भी हैं ।

क्यों देखें

अगर मसाला फिल्मों से कुछ हट कर देखना चाहते हैं तो ये मूवी देख सकते हैं ।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये