मूवी रिव्यू: साधारण फिल्म ‘बेवॉच’

1 min


रेटिंग**

इन दिनों हॉलीवुड इंडियन कलाकारों को गंभीरता से लेने लगा है। इसका उदाहरण है सेथ गोर्डन द्वारा निर्देशित फिल्म ‘बेवॉच’ टीवी शो पर आधारित इस फिलम में प्रियंका चोपड़ा मुख्य खलनायिका के तौर पर दिखाई दे रही है।

फिल्म की कहानी फ्लोरिडा के समुंद्र के बीच की है जहां ‘बेवॉच’ टीम लोगों की रक्षा करने के लिए है। इस टीम में मुखिया मिच यानि डेवेन जॉनसन है एग बार सिटि काउंसिल ने मिच की टीम में मैट ब्राडी यानि जैक एफ्रान को शामिल किया इस नियुक्ति से मिच खुश नहीं था। क्योंकि मैट अपने काम में लापरवाह था कहानी उस वक्त नया मोड़ लेती है जब बीच पर ड्रग्स के बैग पाये जाते हैं। मिच का शक विक्टोरिया लीड्स यानि प्रियंका चोपड़ा पर जाता है। बाद में मिच और उसकी टीम किस प्रकार विक्टोरिया का पर्दाफाश करती है।

कहानी की बात की जाये तो उसमें कुछ भी नयापन नहीं है। बेशक ‘बेवॉच’ अपने वक्त का हिट शो था लेकिन फिल्म वैसा कुछ करने में नाकाम रही है। जबकि फिल्म की स्टार कास्ट काफी फेमस है। लेकिन उन्हें जाया किया गया है। वैसे डेवेन जॉनसन और जैक एफ्रान की मौजूदगी उसे बड़ा बनाती है हिन्दी में फिल्म का आकर्षण प्रियंका चोपड़ा है जो नेगेटिव भूमिका में है वो काफी आकर्षक दिखाई गई है। बेशक उसकी भूमिका छोटी है लेकिन अहम है फिल्म हिन्दी और तमिल में भी डब की गई है। विदेशों में भले ही फिल्म अपनी लागत वसूल ले लेकिन इंडिया में इसका सफल होना मुश्किल नजर आ रहा है।

SHARE

Mayapuri