मूवी रिव्यू: ‘बेहद बचकानी’ फिल्म ‘द लव इज़ फॉरएवर’

1 min


रेटिंग*

 

फिल्म तकनीक सरल होने के बावजूद अगर कोई ‘द लव इज फॉरएवर’ जैसी बचकानी फिल्म बनाता है तो उसे निर्देशक कहलवाने का कोई अधिकार नहीं। पेशे से सिंगर तथा एक पंजाबी चैनल में एंकर हनी वी ने इस फिल्म का निर्देशन किया है। फिल्म से बड़ी बड़ी बातें करने वाले हनी वी ने फिल्म के नाम पर महज प्रॉड्यूसर के पैसे फूंक कर महज अपने लिये एक्सपेरीमेन्ट किया है ।

कहानी

कहानी की बात की जाये तो एक लड़का मनोज वर्मा जो बांसुरी वादक है विदेश से पढ़ कर आई मनप्रीत मनोज से प्यार करने लगती है। मनप्रीत के पिता चौधरी रनवीर सिंह राणा जंग बहादुर के साथ गलत कामों में लिप्त है। जब उसे इन दोनों के प्यार का पता चलता हैं तो वो इनका दुश्मन बन जाता है । लेकिन अंत में उसे दोनों के प्यार के आगे झुकना पड़ता है ।

निर्देशन, संगीत

निर्देशन के बारे में पहले ही बताया जा चुका है। लगता है हनी को फिल्म बनाने की बहुत जल्दी थी इसलिये उसने आनन फानन में एक बचकानी सी कहानी घढ़ी और उसमें जान पहचान के लोग लिये जिन्हें एक्टिंग का ए बी सी भी नहीं पता था। बाकी सहयोगी भूमिकाओं में घर की औरतों को ले लिया और बना दी एक बचकानी सी फिल्म जिसमें कहने को कुछ भी नहीं है। संगीत की बात की जाये तो सिवाय हंसराज हंस के एक गीत के अलावा संगीत के नाम पर पता नहीं क्या क्या गाया गया है ।

क्यों देखें

सावधान ये फिल्म दर्शकों के लिये नहीं बल्कि निर्माता निर्देशक के घर या जान पहचान वालों को देखने के लिये बनाई गई है। बशर्ते वे सब इस फिल्म को झेल सके ।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये