मूवी रिव्यू: धड़क टू ’प से प्यार फ से फरार’

1 min


Movie Review P Se Pyaar F se Faraar

रेटिंग***

ऑनर किलिंग सीधे-सीधे अनुच्छेद 19 का उल्लंघन है। इस अनुच्छेद के मुताबिक देश के हर नागरिक के पास स्वतंत्रता का अधिकार है। मनोज तिवारी के निर्देशन में बनी प से प्यार फ से फरार ऐसा ही कुछ कहती है । इस शुक्रवार को रिलीज़ इस फिल्म में ऑनर किलिंग के जरिये एक और कहानी को बयां किया गया है जिसे काफी अच्छे तरीके से पेश किया गया है।

कहानी

फिल्म की कहानी मथुरा में हुई सच्ची घटना पर आधारित है, जहां एक राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी को इंटरकास्ट मैरिज का खामियाजा भुगतना पड़ता है। यह फिल्म एक युवा लड़के और लड़की के प्यार को लेकर समाज और उनके समुदायों के बीच की अशांत और हिंसक प्रतिक्रियाओं के बारे में है। जो प्रेम के लिए पूज्यनीय शहर को अत्याधिक घृणा के शहर में बदल देती है।

अवलोकन

निर्देषक जो कहना चाहते हैं उसे कहने में उन्हें देर हो गइ्र क्योंकि इससे पहले यही बात मराठी की हिट फिल्म सैराट और हिन्दी फिल्म धड़क में कही जा चुकी है । लिहाजा आप अगर चाहे तो फिल्म का नाम धड़क टू भी रख सकते हैं । बेषक निर्देषक ने यहां भी अपनी असरदार ढंग से कही है । बावजूद इसके सब कुछ अचछा होने पर भी फिल्म उक्त दोनों फिल्मों से प्ररित लगती है । फिल्म की पटकथा और संवाद अच्छे है।

अभिनय

फिल्म में जिमी शेरगिल, संजय मिश्रा, कुमुद मिश्रा, गिरीश कुलकर्णी, भावेश कुमार और ज्योति यादव की अहम् भूमिकाएं हैं। डेब्यू कर रहे भावेश कुमार में काफी संभावनाएं नजर आती हैं। ज्योति सिंह अभिनय के मामले में एकदम अंजान है। बाकी छोटे-छोटे किरदारों में संजय मिश्रा, जाकिर, बृजेंद्र काला और गिरीश कुलकर्णी प्रभावित करते हैं।

क्यों देखें

कुल मिलाकर कहा जाये तो यह गलत नहीं होगा की फिल्म सामाजिक कुरीतियों पर प्रहार तो है एक खूबसूरत अंदाज में। भले ही इसमें बड़े स्टार ना हों मगर यह फिल्म मनोरंजक है, आप इसका आनंद ले सकते हैं।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये