गायक से नायक बने नागेन्द्र उजाला की 2 फिल्मों का मुहूर्त

1 min


भोजपुरी फिल्मों में सिंगर से एक्टर बनने की परम्परा पुरानी रही है। मनोज तिवारी, निरहुआ, पवन सिंह और खेसारी लाल यादव इसके सबूत हैं और अब इसी परम्परा को आगे बढ़ाते हुए एक और गायक नागेन्द्र उजाला नायक बनकर सिल्वर स्क्रीन पर उजाला फैलाने के लिए तैयार हैं।

दीपावली के दिन गायक और नायक नागेन्द्र उजाला की एक साथ दो फिल्मों का शुभ मूहुर्त मुम्बई के अँधेरी पश्चिम में स्थित कुमार शानू के सना स्टुडिओ में सम्पन्न हुआ. अंजुम तरन्नुम आर्ट्स के बैनर तले निर्मित हो रही पहली भोजपुरी फिल्म “काला तिल पे दिल आ गईल” और ओमकार फ़िल्मस प्रस्तुत निर्माता अनिल एस मेहता व हिरा लाल शाह की फिल्म  “बगल वाली जान मारेली” के गाने नागेंद्र उजाला के स्वर में रिकॉर्ड किये गए. दोनों फिल्मो के गीतकार अर्जुन शर्मा और संगीतकार मनोज बंटी हैं. काला तिल पे दिल आ गईल के निर्देशक शामी एम् इरफ़ान और “बगल वाली जान मारेली” के निर्देशक अनिल एस मेहता है.

आपको बता दे कि, लोक गायक नागेन्द्र उजाला की मुंबई में यह पहली रिकॉर्डिंग थी. पिछले कई वर्षो से लोगो को अपनी गायकी से दीवाना बनाने वाले इस गायक ने अपने गाने वाराणसी, पटना और दिल्ली में अब तक रिकॉर्ड किये हैं. उनके स्वर तथा अभिनय से सजे सैकड़ो गाने एल्बम आपको यूट्यूब पर मिल जायेंगे.

गायक और नायक नागेन्द्र उजाला की बॉलीवुड में यह पहली दस्तक है और नागेंद्र उजाला की पार्श्वगायन के क्षेत्र में शुरुआत भी. फिलहाल दोनों फिल्मो में वह नायक हैं उनका गाया गीत उनके ही ऊपर फिल्मबद्ध होगा. मीडिया से बातचीत के दौरान प्रतिभावान गायक और नायक नागेन्द्र उजाला ने कहा कि, गायन मेरी प्राथमिकता है. मैं बॉलीवुड के दूसरे नायको के लिए भी गाना  चाहता हूँ. बस मुझे बॉलीवुड का, आप सबका प्यार आशीर्वाद चाहिए ।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये