मुक्ता A2 सिनेमाज़ ने मुम्बई में मराठी स्पोर्ट्स फ़िल्म विजेता के प्रीमियर का आयोजन किया

1 min


देश में सबसे तेज़ी से आगे बढ़ रही सिनेमा श्रृंखला मुक्ता A2 सिनेमाज़ ने हाल ही में मराठी फ़िल्म विजेता के प्रीमियर शो को मुम्बई के विले पार्ले स्थित सनसिटी मुक्ता A2 सिनेमाज़ में होस्ट किया. यह फ़िल्म दिग्गज फ़िल्म‌ निर्माता सुभाष घई की प्रोड्क्शन कंपनी मुक्ता आर्ट्स लिमिटेड के बैनर द्वारा प्रस्तुत की गई चौथी मराठी फ़िल्म है. उल्लेखनीय है कि इस फ़िल्म के विशेष शो का आयोजन एक भव्य प्रीमियर की एवज में किया गया था. कोरोना वायरस के ख़तरे के चलते फ़िल्म के प्रीमियर को कैंसिल कर दिया गया था.

इस आयोजन के मौके पर फ़िल्म से जुड़े तमाम कलाकार और क्रू मेंम्बर्स शामिल हुए. प्रीमियर के मौके पर सुबोध भावे, पूजा सामंत, सुशांत शेला, प्रीतम कागने, मानसी कुलकर्णी, मानसी देवचाके, तन्वी किशोर, देवेंद्र चौगुले, दीप्ति धोतरे, कृतिका तुलसकर और गौरीश शिपुरकर जैसे तमाम कलाकार शामिल हुए. इन सितारों के अलावा फ़िल्म‌ के निर्देशक अमोल शेट्गे, निर्माता राहुल पुरी व सह-निर्माता सुरेश पाई और मुक्ता आर्ट्स के चेयरमैन और फ़िल्म के प्रस्तुतकर्ता सुभाष घई भी मौजूद थे.

इस मौके पर बात करते हुए मुक्ता A2 सिनेमाज़ के अध्यक्ष राहुल पुरी ने कहा, “विजेता एक ऐसी फ़िल्म है,‌ जो हमारे अंदर मौजूद एक एथलीट से संवाद करती है. यह फ़िल्म उम्मीद, साहस और विपरीत हालात में भी जीत हासिल करने की अद्भुत कहानी है. फ़िल्म की कहानी में एक वैश्विक संदेश छिपा है, जिसे हर कोई आसानी से समझ लेगा. मुक्ता A2 सिनेमाज़ को एक ऐसी फ़िल्म का प्रीमियर होस्ट करते हुए बेहद गौरवान्वित महसूस हो रहा है, जिसमें मराठी सिनेमा के उम्दा कलाकारों ने अभिनय किया है. हमें पूरी उम्मीद है कि इस फ़िल्म की कहानी द्वारा दिया गया संदेश लोगों को बेहद पसंद आएगा.”

इस फ़िल्म में सौमित्र (सुबोध भावे) को एक माइंड कोच के रूप में दिखाया गया है. उन्हें महाराष्ट्र सरकार केरल में  आयोजित राष्ट्रीय खेलों में ख़राब प्रदर्शन के चलते राज्य में एक माइंड कोच के तौर पर नियुक्त करती है. इसी दौरान दर्शकों की मुलाक़ात नलिनी (पूजा सावंत) से होती है, जो कि एक ट्रायथलन एथलीट है. वह साइक्लिंग में बेहद कुशल है,‌ मगर दौड़ और तैराकी में वह काफ़ी फ़िसड्डी है. वहीं सुनंदा नामक किरदार एक ऐसी रनर हैं, जो अपने बेहद ख़राब अतीत से जूझ रही है. सौमित्रा इन एथलीट्स को उनकी निजी परेशानियों से निकालने‌ का अथक प्रयास करते हुए सोचता है कि वह उन्हें उनके दिमाग़ी जंग में जीत दिलाने में कामयाब होगा. उल्लेखनीय है कि सौमित्र ख़ुद ही एक निजी समस्या से ग्रस्त है और ख़ुद को बर्बाद होने से बचाने की जद्दोज़हद में लगा हुआ है.

और पढ़े: Hrithik Roshan Latest Tweet: जानिए क्यों ऋतिक रोशन ने टीचर को कहा ब्रेनलेस मंकी


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये