एमएक्‍स ऑरिजिनल सीरीज- आफत पहुंची दिल्‍ली!

1 min


aafat

पाँच अस्वाभाविक गुणों वाली पाँच सुंदर लड़कियाँ हैं, जिनकी एक आम समस्या है रूढ़िवादिता! एमएक्स ओरिजिनल सीरीज ‘आफत’ का यही फलसफा है! विश्व का सबसे बड़ा लोकल वीडियो प्लेयर और अग्रणी स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म एमएक्स प्लेयर दर्शकों के लिये यह अनूठी वेब सीरीज लेकर आया है, जो अरेंज्‍ड मैरिज पर एक हास्‍यप्रद मगर विचारोत्तेजक समीक्षा प्रस्तुत करती है, साथ ही बताती है कि समाज को एक ‘आदर्श दुल्हन’ से क्या चाहिये। इस सीरीज में मुख्य भूमिकाएं चित्राशी रावत, पुष्टी शक्ति, निकिता दत्ता, अंशुल चौहान, नीलम सिविया, सिद्धार्थ भारद्वाज और सीमा पाहवा ने निभाई हैं और इसका निर्देशन शानहंत शाह ने किया है। इस शो की एमएक्स प्लेयर पर निशुल्क स्ट्रीमिंग शुरू हो चुकी है।

इस सीरीज की मजबूत कहानी, जाने-पहचाने किरदारों और इस पितृसत्‍तात्‍मक मानसिकता के समग्र प्रदर्शन की वजह से दर्शक इसे बेहद पसंद कर रहे हैं। इस शो के किरदार आफत को प्रोमोट करने और दर्शकों की तारीफ के लिये उनका शुक्रिया अदा करने आज दिल्‍ली में थे।

आफत के सफर के बारे में बात करते हुये चित्राशी रावत ने कहा, ”आफत उन लड़कियों की कहानी है, जिन्‍हें किसी भी बात पर अफसोस नहीं है। ये वे मुद्दे हैं, जो हमारे आस-पास मौजूद हैं और  बावजूद इसके कि हमें लगता है कि हम लिबरल हैं। इस शो में महिलाओं से जुडी रूढि़वादिताओं को दिखाया गया है, जो लंबे समय से उनके साथ जुड़ी हुई हैं और हमारा लक्ष्‍य इसे दूर करना है। इस तरह के शो का हिस्‍सा बनकर मुझे गर्व हो रहा है।”

 निकिता दत्‍ता ने कहा, यह शो बताता है कि महिलाओं के प्रति समाज का नजरिया क्‍या है और किस तरह से शो की पांच प्रमुख किरदार सामाजिक दबाव के बावजूद अपनी मर्जी की जिंदगी जीती हैं। मेरा किरदार एक तलाकशुदा महिला का है, जिसे असली दुनिया में आमतौर पर निचले दर्जे का माना जाता है। इन रूढिवादी मानसिकताओं को तोड़ने का समय आ गया है। मुझे खुशी है कि मुझे एक ऐसी सीरीज का हिस्‍सा बनने का मौका मिला है, जो एक ऐसे अंदाज में इस मुद्दे के बारे में बात करती है, जो दर्शकों की सही नब्‍ज को पकड़ सकती है।

पुष्टि शक्ति ने आगे कहा, मैं कई स्‍तरों पर अपने किरदार के साथ समानुभूति महसूस कर सकती हूं। हालांकि, पतली नहीं होने की वजह से मैं खूबसूरती के सांचे में बिल्‍कुल भी फिट नहीं बैठती हूं। लेकिन सच तो यह है कि हमें खुद से प्‍यार करना चाहिये, फिर चाहे हम जैसे भी हों। मुझे पूरा भरोसा है कि यह कहानी कुछ स्‍तर पर प्रत्‍येक महिला के साथ जुड़ाव बनायेगी।

 अंशुल चौहान ने प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुये कहा, यह फैसला कौन करता है कि क्‍या नॉर्मल है या हमें कैसा दिखना चाहिये अथवा कैसा होना चाहिये?  हमारे लिये यह बहुत जरूरी है कि हम अपनी मर्जी से अपनी जिंदगी जियें, बिना किसी हिचकिचाहट के या बिना किसी दबाव के और आफत इसी बारे में है।

नीलम सिविया ने कहा, आफत आज की कहानी है। यह आपकी, मेरी और आपके किसी पहचान वाले की कहानी हो सकती है। हम बस इतना कहना चाहते हैं कि आफत बनकर हमें गर्व हो रहा है।

आफत पाँच दूरदर्शी महिलाओं की कहानी है, जो किसी भी पुरूष के लिये उपयुक्त हो सकती हैं, लेकिन इनमें से प्रत्येक में एक अनूठा गुण है, जो उन्हें संपूर्णता से दूर करता है। उनका जीवन एक-दूसरे के समानांतर है, जिसे पिरोने वाला धागा है मैरिज एजेंसी वाला लड़का। आयशा (अंशुल चौहान) एक सफल वॉइस ओवर आर्टिस्ट है, लेकिन उसने कभी अपने शरीर को वैक्स नहीं किया। अनु (नीलम सिविया) भारत की आधुनिक युवा महिला है, जो एक एमएनसी में कोडर है। लेकिन वह गंजी है! फैज़ा (चित्राशी रावत) एक उभरती कवियत्री है, जिसकी भाषा बहुत रंगीन है। अदिति (शक्ति) के पास एमबीए की डिग्री है, वह धनवान है, लेकिन उसका वजन बहुत ज्यादा है। तितली (निकिता दत्ता) एक प्रतिभावान उद्यमी है, लेकिन तलाकशुदा है।

बाल वाली, गंजी, गाली देने वाली, ज्यादा वजन वाली और तलाकशुदा- यह पाँचों साथ मिलकर एक आफत बन गई हैं, जिनसे रिकी (सिद्धार्थ भारद्वाज) का सामना होता है।  आफत की स्ट्रीमिंग एमएक्स प्लेयर पर हो रही है!

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

 

SHARE

Mayapuri