नाना की मदद के लिए ‘हां’ कहिये

1 min


नाना पाटेकर इन दिनों मुंबई में कम रहते हैं और गांव में ज्यादा रहना पसंद करते हैं वे शूटिंग करने के लिए मुंबई आ जाया करते हैं। गांव का असर नाना पर यह पड़ा है कि वे किसानों की भूखमरी (गरीबी) को लेकर अत्यन्त दुखी हैं। नाना पाटेकर ने किसानों द्वारा आत्म हत्या किये जाने की खबरों पर सरकार की भी खूब आलोचना की है। वह कई परिवारों को जो आत्महत्या करने की सोच रहे थे उनको आर्थिक मदद दी है। नाना के मुताबिक (जो एक सोशल मीडिया के रिफरेन्स से हैं) अगर किसान आत्महत्या करना चाहते हैं तो उनके पास आएं और वे उनकी मदद करेंगे। नाना के किसानों की स्वीकारोक्ति के बाद कईयों को पंद्रह-पंद्रह हजार रूपए दिये हैं और उनका कहना है जो कोई किसान उस हालत में हो, उसे वह मदद देंगे। यह अलग बात है कि नाना के सामने ‘हां’ कहने की हिम्मत भी चाहिए…!


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये