200 साल बाद दर्शकों को केवल सलमान खान की फिल्में ही ना देखनी पड़ें- नसीरुद्दीन शाह

1 min


हिंदी फिल्मों के बेहतरीन ऐक्टर नसीरुद्दीन शाह काफी दिनों से फिल्मों से दूर रहते हैं । आखिरी बार नसीरुद्दीन फिल्म ‘होप और हम’ में नजर आए थे । यह फिल्म मई में रिलीज हुई थी । खबर है कि,  उन्होंने सलमान खान के बारे में कुछ ऐसी बात कह दी है जो उनके फैंस को बुरी लग सकती है ।

सिनेमा आगे वाली पीढ़ियों के लिए है

नसीरुद्दीन नहीं चाहते कि हैं कि दर्शक भारतीय सिनेमा को साल 2018 जैसी एक तरह की फिल्में देने वाले सिनेमा की तरह देखें । उन्होंने कहा, ‘सिनेमा आगे आने वाली पीढ़ियों के लिए होता है । समाज के लिए सिनेमा को बेहतर बनाने की जिम्मेदारी हमारी है ।’

सिनेमा समाज को नहीं बदल सकता

उन्होंने आगे कहा, ‘मेरा मानना है कि सिनेमा समाज को नहीं बदल सकता और न ही कोई क्रांति ला सकता है । सिनेमा शिक्षा का माध्यम है या नहीं इसे लेकर भी मैं पक्के तौर पर कुछ नहीं कह सकता । डॉक्यूमेंटरी शिक्षाप्रद हो सकती हैं लेकिन फीचर फिल्में यह काम नहीं कर सकतीं ।’

200 साल के बाद भी देखा जाएगा

नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि यही वजह है कि उन्होंने ‘ए वेडनसडे’ और ‘रोगन जोश’ जैसी फिल्मों में काम किया । उन्होंने कहा, ‘ऐसी फिल्मों का हिस्सा बनने को मैं अपनी जिम्मेदारी मानता हूं । मेरे सभी गंभीर काम उस दौर का प्रतिनिधित्व करते हैं। सिनेमा हमेशा रहेगा । इन फिल्मों को 200 साल के बाद भी देखा जाएगा ।’

सिनेमा भावी पीढ़ियों के लिए

‘लोगों को पता होना चाहिए कि साल 2018 में भारत का सिनेमा किस तरह का था। ऐसा न हो कि 200 साल बाद उन्हें केवल सलमान खान की फिल्में ही देखने को मिले । सिनेमा भावी पीढ़ियों के लिए होता है ।’

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

Sangya Singh

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये