कोरोना पलायन पर फिल्म बनाएंगे नेशनल अवॉर्ड विनर डायरेक्टर विनोद कापड़ी,खुद भी परिवार के साथ किया पलायन

1 min


कोरोना पलायन पर फिल्म बनाएंगे नेशनल फिल्म अवॉर्ड विनर डायरेक्टर विनोद कापड़ी , OTT प्लेटफार्म पर करेंगे रिलीज़

कोरोनावायरस से एक तरफ जहां लोगों के मरने की संख्या हर दिन बढ़ती जा रही है। वहीं इस वायरस की वजह लगे लॉकडाउन से पलायन का सकंट भी पैदा हो गया है। सरकार की ओर से 21 दिनों के लिए पूरे भारत को लॉकडाउन किया गया। ऐसे में किसी को भी बेवजह घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है। साथ ही यातायात सुविधा के भी फिलहाल के लिए बंद किया गया है। बावजूद इसके कई मजदूर और गरीब लोग शहर से अपने गांव जाने में लगे हुए है , यातायात की सुविधा ना होने के कारण ये लोग मीलों पैदल ही अपनी मंजिल पर निकल पड़े है।

विनोद कापड़ी ने कोरोना पलायन पर फिल्म बनाने का किया फैसला

 विनोद कापड़ी

Source – Indiatoday

देश में 21 दिनों के लॉकडाउन के बाद शहरों से अपने गांवों की ओर निकले मजदूरों की दिल दहला देने वाली तस्वीरें जल्द ही बड़े परदे पर एक फिल्म की शक्ल लेने वाली है। नेशनल अवार्ड विनर डायरेक्टर विनोद कापड़ी ने ऐसे ही कुछ मजदूरों के साथ सफर तय कर कुछ मानवीय पहलुओं की कहानियां तलाशी है। कोरोना महामारी की वजह से देश के बिगड़ते माहौल पर कई फिल्म निर्माता और निर्देशक फिल्म बनाने का विचार कर रहे है। सभी निर्देशक इस मुद्दे को अलग-अलग चश्मे से देख रहे होंगे, लेकिन फिल्म ‘पीहू’ और मिस तनकपुर हाज़िर हो के डायरेक्टर विनोद कापड़ी का ध्यान कोरोना की वजह से पलायन कर रहे लोगों की तरफ गया। उन्होंने इस पूरी कहानी का पीछा किया और अब उन्होंने इस मुद्दे पर एक फिल्म बनाने का फैसला कर लिया। आपको बता दे , विनोद कापड़ी डायरेक्टर होने के साथ साथ एक जॉर्नलिस्ट भी है।

OTT प्लेटफार्म पर करेंगे रिलीज़

विनोद कापड़ी

Source – Boltahindustaan

विनोद कापड़ी ने अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर शॉर्ट विडियोज की एक सीरीज पोस्ट की है। इस बारे में बात करते हुए विनोद कहते है, ‘ये तो सिर्फ किस्तों में पेश की गई एक डॉक्यूमेंट्री थी, लेकिन अब मैं एक फिल्म बनाने जा रहा हूं, जिसे मैं ओटीटी प्लेटफॉर्म पर कमर्शियली रिलीज करूंगा। इस घटना ने मुझे एक फिल्म बनाने के लिए प्रेरित किया है। इसपर मैं अपनी टीम के साथ मिलकर काम कर रहा हूं।’

इस घटना के वजह से लिया फिल्म बनाने का फैसला

 विनोद कापड़ी

Source – Baldlav

सोशल मीडिया पर साझा की गई वीडियो सीरीज में विनोद ने दिल्ली से कानपुर पलायन कर रहे एक परिवार को अपनी कहानी का आधार बनाया। उस परिवार ने दिल्ली से अपनी पैदल यात्रा शुरू की तो विनोद उनके साथ हो लिए। इस डॉक्यूमेंट्री को फिल्माने से पहले विनोद दिल्ली में ही कई गरीब परिवारों से मिले थे। हालात को देखकर उन्हें अंदाजा हो गया था कि अब बहुत बड़ा पलायन विस्फोट होने वाला है।

विनोद ने बताया, ‘लॉकडाउन होने के अगले ही दिन जब मैं उन परिवारों से मिला, तब मुझे पता चला कि इन लोगों को तो पिछले तीन दिन से खाना भी नसीब नहीं हुआ था। सरकार ने दैनिक वेतनभोगियों को भत्ता देने की बात तो कही लेकिन इन लोगों का क्या जो रेहड़ियां लगाकर अपने परिवार को पालते हैं। उस घटना ने मुझे इस कहानी को फिल्माने पर मजबूर किया।’

आपको बता दे , देश में लगातार कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है। सोमवार को इस आंकड़े में सबसे भारी उछाल देखा गया। 24 घंटे के अंदर कोरोना वायरस से संक्रमित 227 नए मामले सामने आए हैं। इसी के साथ कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 1200 के पार पहुंच गई है।

ये भी पढ़ें– कंगना रनौत ने बताया, 16 साल की ही उम्र में कैसे बन गईं थीं ड्रग एडिक्ट ?


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये