सरदार के ग्रैंडसन वाली भूमिका मैं नहीं करना चाहती थी – Neena Gupta

1 min


अभिनेत्री Neena Gupta ने सरदार का ग्रैंडसन  में प्रमुख भूमिका निभाई  है जो पुरुष पितृसत्तात्मक समाज में अति उत्तम स्थान रहा है। जिसमें हमेशा पुरुष का वर्चस्व रहा है। नीना गुप्ता के अभिनय को सभी ने पसंद किया है। नेटफ्लिक्स पर इस ड्रामा में सचमुच नीना गोता ने  नाटक को पूरी तरह से अपने कंधों पर सफल बनाया है।  नीना के पास रिलीज होने वाली फिल्मों का एक गुलदस्ता है। ८३” अलविदा, ग्वालियर…और भी बहुत कुछ….और मसाबा – मसाबा का दूसरा सीजन। – लिपिका वर्मा द्वारा लिया गया इंटरव्यू
 
सरदार परिवार के मुखिया की भूमिका निभाते हुए आप पितृसत्ता शब्द को पुरुष से महिला में   बदलने में कामयाब रही   हैं … नीना को महिला सशक्तिकरण के प्रमुख के रूप में चिह्नित किया जाना चाहिए? यह भूमिका के लिए हामी  करने से पहले -क्या आपको कोई शंका थी?
सबसे पहले मैं  यह भूमिका नहीं निभाना चाहती थी। लेकिन जब मैंने स्क्रिप्ट सुनी तो मैंने इस भूमिका को किसी भी तरह से करने का फैसला किया। मैं इस भूमिका को निभाने के लिए उत्साहित थी…यह एक बहुत ही चुनौतीपूर्ण भूमिका थी जिसे मैंने कभी निभायी नही थी । उस चुनौती को स्वीकार करने में बहुत मजा आया।
 
बताएं इस किरदार के लिए ,मेकअप करना और उसे हटाना कितना आसान या कठिन था?
 मेकअप के लिए शुरू में … हमने कई विकल्पों की कोशिश की थी, इस बात का भी ध्यान रखना था कि मेरा मेकअप मेरे प्रदर्शन के साथ-साथ मेरे चेहरे के भावों को भी बाधित न करे। शूटिंग के लिए जाने से एक रात पहले हमने इसे क्रैक किया। मुझे लगता है कि यह काफी अच्छा था। उतारना शुरू में बहुत समय लगता था किन्तु थोड़े समय के बाद सब कुछ सही होने लगा।
क्या आपको बहुत अधिक मेकअप करना पड़ा, नीना से कोई इनपुट मिला?
जीतू [मेकअप दादा] बहुत अच्छे और धैर्यवान थे। शुरू में मुझे अपना पूरा चेहरा वैक्स करना पड़ा ताकि वह मेरे बालों से न चिपके। हम इसे शुरू में 2 घंटे के भीतर कर लेते थे। लेकिन बाद में मेकअप पहनने में लगने वाला समय काफी कम हो गया। फिर मैंने कुछ ऐसे मेकअप का उपयोग करने का भी फैसला किया जिससे मुझे सहज महसूस हुआ।
आपको सबसे अच्छी टिप्पणी क्या मिली होगी?
…बहुत से लोगों ने मुझे अपनी दादी की फोटो भेजी, जो बिल्कुल मेरी तरह दिखती थीं, जो सबसे अच्छी बात थी।
भविष्य में  प्रोफेशनल फ्रंट पर आप २०२१ में बहुत बिजी है ?कुछ बताइए?
 फिल्म ”83” पूरी हो गई है। मैं एक अतिथि भूमिका के रूप में प्ले कर रही हूं। मैं रणवीर की [सिंह] मां की भूमिका निभा रही हूं। डायल 100 भी जल्द ही आने वाली है। “ग्वालियर” शीर्षक वाली यह फिल्म कुछ देर के लिए पूरी हो जाती है। मुझे मसाबा- मसाबा सीजन २ की शूटिंग करनी है। फिर मुझे पंचायत की शूटिंग करनी है। फिर  निर्देशक विकास बहल की फिल्म “अलविदा” की शूटिंग थोड़ी हो गयी है ,और कुछ और बाकी है जो लॉक डाउन के बाद शुरू होगी। मैंने कुछ फिल्में और भी साइन की हैं।
नीना आप हमेशा पेशेवर रूप से स्थिर रही हैं। दूसरी पारी भी उनके लिए शानदार भूमिका लेकर आई है, ग्लिट्ज़ और ग्लैमर के इस प्रतिस्पर्धी उद्योग में जीवित रहने के लिए नए लोगों के लिए कोई संदेश?
मैं कहूंगी, “आपको कड़ी मेहनत करते रहना होगी। आज नहीं तो कल मौके मिल सकते हैं। लेकिन आपको काम जरूर मिलेगा बशर्ते आप लगातार मेहनत करें…यही सबसे महत्वपूर्ण बात है और अगली सबसे महत्वपूर्ण बात है अपने आत्मसम्मान को हमेशा सबसे  ऊपर रखना।
नीना पहली पारी के साथ-साथ दूसरी पारी में भी अपनी विविध भूमिकाओं को पर्दे पर बखूबी लाने के लिए अपने सफर की व्याख्या कैसे करेंगी?
 मैंने तय कर लिया है कि मुझे अपने अतीत में  नहीं झांकना है। लेकिन मैं आज के दिन को ख़ुशी ख़ुशी व्यतीत करना चाहती हूं। ईश्वर सबको सब कुछ नहीं देता। इस प्रकार मैं हमेशा खुद को यह कहकर सांत्वना देती हूं कि भगवान ने मुझे काफी दिया है। मुझे आभारी होना चाहिए कि मैंने उसके अनुसार जो भी मेहनत की है, मुझे सर्वशक्तिमान द्वारा बहुत कुछ दिया गया है। मैं अपनी इस अद्भुत संतोषजनक यात्रा के लिए आभारी हूं कि मैं आज भी काम कर रही  हूं।
व्यक्तिगत और पेशेवर रूप से आप बेहद खुशी के दौर में हैं…टिप्पणी करें?
देखो, कोई भी पूरी तरह से संतुष्ट नहीं होता है? मेरे पास एक मंत्र है- “आगे बढ़ो। “सभी मनुष्य अपने जीवनकाल में बहुत कष्ट सहते हैं। ….लेकिन कुछ लोग जिसे वे प्राप्त नहीं कर पाए हैं इसके बारे में बड़बड़ाते रहते हैं । उन्हें अपने जीवन में आगे जो कुछ भी प्राप्त होता है, अतः  उसका आनंद लेने में असफल होते हैं। अगर मुझे कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ता है तो मैं हमेशा आगे बढ़ने की कोशिश करती हूं। हो सकता है कि ऐसा करना मुश्किल हो, हालांकि हम कम से कम आगे बढ़ने की कोशिश तो कर ही सकते हैं। अपने दुखों को दूर करने के लिए प्रयास करने में कोई बुराई नहीं है। कभी यह मत सोचो कि किसी बड़े अभिनेता और उच्च पद वाले व्यक्ति को समस्या नहीं हो रही है, ऐसा कभी नहीं है, हर किसी को अपनी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।
 
माँ [नीना गुप्ता] और बेटी [मसाबा] की जोड़ी “मसाबा मसाबा” के बारे में विस्तार से बताएं, क्या पहले सीजन में दर्शकों ने दर्शकों का दिल जीत लिया था?
मसाबा मसाबा के दूसरे सीजन को बहुत अच्छा लिखा गया है। हमें जून में शूटिंग शुरू करनी थी। लेकिन अब हम इसे फिर से शेड्यूल कर रहे हैं। हम जल्द ही शुरू करेंगे, जैसे ही लॉकडाउन में ढील दी जाएगी और इसे खोला जाएगा। इस शो के 8 एपिसोड होंगे। यह बहुत दिलचस्प है। शूटिंग का बेसब्री से इंतजार है। जी हां, मसाबा इसकी शूटिंग को लेकर उत्साहित हैं
SHARE

Mayapuri