नीरजा की मां ने सोनम को कहा लाडो 

1 min


शहीद की मां यदि किसी से अपने शहीद बेटे-बेटी की तुलना करे, ऐसा बहुत कम होता है। क्योंकि किसी भी शहादत की कीमत कोई कभी नहीं चुका सकता, पर सोनम कपूर के साथ ऐसा हुआ है। सोनम कपूर ‘नीरजा’ फिल्म में नीरजा भनोट का किरदार निभा रहीं हैं। किरदार की बारीकी और उसे जीने के लिए सोनम ने नीरजा या फिर एक किरदार में घुसने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है। इसी सिलसिले में जब नीरजा भनोट के घर सोनम कपूर पहुंची, तो नीरजा की मां ने सोनम को गले से लगा लिया। मां 29 साल बाद अपनी उस बेटी से गले मिल रही थी, जो 5 सितंबर 1986 के बाद कभी नहीं लौटी। वात्सल्य के इस आलिंगन का सोनम के पास कोई जवाब नहीं था और जैसे ही मां ने रूंघते गले से “लाडो” कहा वैसे ही सोनम की आंखे नम हो गईं। वो समझ गई कि अचानक से कोई घर से शाम को वापस आऊंगा कहकर गया हो और उस शाम का इंतजार क्या होता है। इसी गर्माहट में मां के अंदर बेटी की वीरता का मान भी था और सम्मान भी।

नीरजा को उनकी मां लाडो कहकर पुकारती थीं। जिस नीरजा की मां ने सोनम को लाडो कहकर पुकारा वो फिल्म क्रू और सोनम के लिए यह बहुत ही इमोशन और गर्वीला क्षण था।

क्योंकि उनकी फिल्म को सबसे बड़ा सम्मान जो मिल चुका था। मां का सर्टिफिकेशन कि उसकी बेटी और उसके साहसी कारनामे वैसे ही हैं जैसे कि फिल्म में दिखाया बताया और सुनाया गया है। नीरजा की मां का बीते दिसंबर में देहांत हो गया। पर इससे पहले वो फिल्म के सेट पर पहुंची थी पूरी टीम के काम की तारीफ की और अपनी दुआंए भी दी। बस क्या था ? पूरी टीम जोश से लबरेज हो गई।

फिल्म के ट्रेलर लॉन्च होने के बाद से लोगों के बीच इस हिडन मार्टर को देखने की गज़ब सी लुलुप्तसा है। क्योंकि अपनी जान देकर पैनएम प्लाइट में बैठे 359 लोगों की जान बचाना अपने आप में ऐतिहासिक है। वो भी तब जब आपका सामना आतंकियों से हो। जिनके पास हथियारों का जखीरा है और नीरजा सिर्फ एक फ्लाइट की कैबिन क्रू थी, बाकी क्रू मैदान छोड़ कर भाग खड़े हुए थे।

फिल्म 19 फरवरी को प्रर्दशन के लिए तैयार है। लेकिन उससे पहले ही पूरे देशभर में नीरजा की काफी प्रशंसा की जा रही है। बॉम्बे स्कॉटिश स्कूल जहां से नीरजा ने पढ़ाई की है वहां के प्रबंधन ने इस बार गणतंत्र दिवस के मौके पर सोनम कपूर को झंडा फहराने के लिए बुलाया था। 1847 में बने इस स्कूल में यह पहला मौका था कि किसी बाहरी व्यक्ति को यह मौका दिया। लेकिन नीरजा के साहस और उस पर बन रही फिल्म की नीरजा को यह सम्मान स्कूल ने दिया। जैसे-जैसे फिल्म रिलीज की तारीख नज़दीक आ रही है वैसे-वैसे नीरजा को लोगों का शानदार रिस्पांस और मोरल सपोर्ट मिलता जा रहा है।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये