नीतू चंद्रा उवाच

1 min


‘‘वंस अपॉन ए टाइम इन बिहार’’ जैसी फिल्म में बिहार के हालातों का चित्रण करते हुए वहां के पोलीटीशियन का भी एक चेहरा दिखाने वाली नीतू चंद्रा का मानना है कि वह राजनीति का हिस्सा नहीं बनना चाहती। वह कहती हैं- ‘‘सच बोलने वालों के लिए राजनीति में जगह नही हैं। राजनीति में पोलीटिकली करेक्ट या डिप्लोमैटिक बात करनी पड़ती है। फिल्म के माध्यम से राजनीति में बदलाव लाने का प्रयास करती रहूंगी। बिहार के लोगों का दिमाग बदलने का प्रयास करती रहूंगी। बिहार के लोगों को ताकत देना चाहती हूं और बिहार के लोगों की ताकत बनना चाहती हूं। मेरा ननिहाल लखनऊ में है।’’

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये