पहले विदुर के रोल में चुने गए थे महाभारत के ‘कृष्ण’ नीतीश भारद्वाज, जानिए फिर कैसे मिला इतना अहम किरदार

1 min


Nitish Bhardwaj

विदुर के बाद नीतीश भारद्वाज चुने गए थे नकुल व सहदेव के रोल के लिए

अथ श्री महाभारत कथा…मैं समय हूं….दुर्योधन, कर्ण, पांडव, कौरव….ये सब केवल शब्द भर नहीं हैं बल्कि वो यादें हैं जो शायद ही कभी हमारे अंतर्मन से धूमिल हो पाएं। और जब जब इनका ज़िक्र होता है तो ये फिर से हमें उसी दौर में ले जाते हैं जो हमने कई सालों पहले जीया था। इस महाभारत का एक अहम किरदार थे ‘कृष्ण’ और इस धारावाहिक में ये रोल निभाया था नीतीश भारद्वाज ने। 

Nitish Bhardwaj

Source – Her Zindagi

कई बार मन में प्रश्न भी उठता है कि क्या इनसे अच्छा कोई कृष्ण हो सकता था भला। शायद नहीं….क्योंकि इन्होने जो छाप इस सीरियल में अपनी छोड़ी है वो आज भी लोगों के दिलों से अमिट है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि नीतीश भारद्वाज तो कभी कृष्ण बनना ही नहीं चाहते थे। इतना ही नहीं उन्हे तो किसी और रोल के लिए चुना गया था। फिर कैसे वो बन गए महाभारत की धुरी। चलिए जानते हैं।

विदुर के लिए हुआ था सेलेक्शन

Source – News No Views

बताया जाता है कि महाभारत के कृष्ण यानि नीतीश भारद्वार का चयन तो विदुर के रोल के लिए हुआ था। शूटिंग भी बस शुरू ही होने वाली थी। लेकिन किस्मत को शायद कुछ और ही मंजूर था। इसीलिए बी आर चोपड़ा के बेटे रवि चोपड़ा ने उनसे ये रोल लेकर किसी और को दे दिया। एक इंटरव्यू में खुद नीतीश ने बात बताई थी। उन्होने कहा था 

‘मुझे पहले विदुर के रोल के लिए कास्ट किया गया था, लेकिन अचानक मेरी जगह किसी और को विदुर का रोल दे दिया गया। मैं रवि को जानता था हमने साथ में फिल्में भी की थी। मैंने जब इस बारे में रवि से पूछा तो उन्होंने कहा कि तुम अभी 23-24 साल के हो और कुछ एपिसोड के बाद विदुर बूढ़ा हो जाएगा। ये तुम्हारे ऊपर अच्छा नहीं लगेगा। इसके बाद मेरे पास कोई जॉब नहीं थी।’  

 विदुर के बाद नकुल और सहदेव का रोल हुआ ऑफर

विदुर के बाद नीतीश भारद्वाज जॉबलेस थे। लेकिन कुछ समय बाद उन्हे महाभारत से फिर बुलावा आया। लेकिन इस बार उन्हे बुलाया गया था नकुल और सहदेव के रोल के लिए। ये रोल नीतीश करना नहीं चाहते थे। इसीलिए उन्होने इस रोल के लिए मना कर दिया। क्योंकि उन्हे अभिमन्यु का रोल बहुत पसंद था। और वो वही रोल करना चाहते थे। इस बारे में उन्होने बाकायदा रवि चोपड़ा से बात भी की थी।

बाद में कृष्ण के ऑडिशन के लिए बुलाया

Nitish Bhardwaj

Source – India Times

आखिरकार जो नियति में लिखा था उसकी पटकथा लिखी जाने लगी। नीतीश भारद्वाज को कृष्ण के रोल के स्क्रीन टेस्ट के लिए बुलाया गया। और देखिए नीतीश ने इसके लिए मना कर दिया। क्योंकि उन्हे लगता था कि कृष्ण के रोल के लिए तो किसी अनुभवी एक्टर को लेना चाहिए बल्कि किसी नए इंसान को कैसे लिया जा सकता है। लेकिन रवि चोपड़ा के कहने पर उन्हे ऑडिशन देना पड़ा। और इस तरह महाभारत को मिल गया कृष्ण।

55 लोगों के बीच चुने गए थे नीतीश

एक रिपोर्ट के मुताबिक महाभारत में कृष्ण के रोल के लिए लगभग 55 लोगों ने स्क्रीन टेस्ट दिया था। लेकिन इन्ही सभी 55 लोगों से बाज़ी जीती नीतीश भारद्वाज ने। वो जो कभी कृष्ण बनना ही नहीं चाहते थे। लेकिन वो कहते है ना जो किस्मत में होता है वो मिल ही जाता है और भगवान की मर्जी शायद इसी में थी।

और पढ़ेंः रामायण बजट / एक एपिसोड पर 9 लाख रूपए होते थे खर्च, दूरदर्शन को होती थी 40 लाख रूपए की कमाई

 

SHARE