दर्शक ही है, जो आपके किरदार को पसंदीदा बनाते है: नुसरत भरुचा

1 min


  • लिपिका वर्मा

नुसरत भरूचा ने अपना फिल्मी सफर, ‘प्यार का पंचनमा  से शुरू किया और यह फिल्म ने काॅमर्सियल सफलता पर इन सब ही आर्टिस्ट्स को बॉलीवुड में एक पहचान तो दिलवा ही दी. इसके बाद नुसरत के लिए पीछे मूड कर नहीं देखना पड़ा! उनकी दूसरी फिल्म ‘सोनू की टीटू की स्वीटी’ में बतौर विलन रोल निभाया और यह फिल्म ने भी बॉक्स ऑफिस पर धुआँ धार कमाई कर इसकी सफलता के पचंम लहरा दिए। नुसरत अब अलग-अलग किरदार निभा रही है जैसे फिल्म ‘छलांग’ और ‘रामसेतु, ‘जनहित में जारी’ जिसकी शूटिंग ग्वालियर और चंदेरी में होने की तैयारी है! उनकी एक और फिल्म हुरदंग के रिलीज डेट अभी तक तय नहीं की गयी है! बहुत जल्द निर्देशक विशाल फुरिया की फिल्म ‘छोरी’ अमेजाॅन ओटीटी पर रिलीज के लिए तैयार है!

आपके मातापिता का रिएक्शन कैसा रहा क्योंकिछोरीमें आप बहुत ही अलग किरदार निभा रही है?

क्योंकि ऐसा किरदार मैं पहली बारी निभा रही हूँ तो जाहिर  सी बात है उन्हें मुझ पर गर्व महसूस हो रहा है।मैंने इस किरदार के लिए लगभग 28 दिन तक हम शूटिंग करते रहे, मैंने अपने पेरेंट्स से इस दौरान बिल्कुल सम्पर्क नहीं किया क्योंकि मैं इस किरदार के जोन में ही रहना चाहती थी, किन्तु मेरी टीम ने जरूर उन्हें मेरी खुशहाली की खबर समय समय पर दी। बस जितना कोम्प्रोमाईज और सपोर्ट उन्होंने मेरे काम के लिए  बस मुझे अपने काम से उन्हें खुश करना है।

एक अलग गर्भवती का किरदार निभाया है ओटीटी पर यह फिल्म ऑडियंस कितना पसंद करेंगी और इस फिल्म को देखेगी भी?

वैसे मुझे आॅडियंस पर पूर्णतः विश्वास है किन्तु साथ ही आशा करती हूँ कि, यह फिल्म भी वह देखें जैसे मेरी पहली फिल्में देख कर सफल बनाई! बस हम इस तरह की बेहतरीन फिल्में बनाने के लिए उत्साहित किये जाये! दर्शक ही है जो आपके किरदार को पसंदिता बनाते है! आज कल दर्शक बहुत ही समझदार हो गए है! उन्होंने हमें गानो पर नाचते हुए देखा है और हमें इमोशनल रोल में रोते हुए इमोशनल किरदार में भी देखना चाहते है! बस पर्दे पर हमारी जर्नी फिर चाहे वो हंसते हुए गिरते हुए हम सफल हो रहे है या नहीं यह सब उन्हें देखना पसंद है! कंटेंट यदि अच्छा हो तो लोग फिल्म जरूर देखना पसंद करते है! फिर चाहे वो कोई भी प्लेटफार्म क्यों न हो!

क्या यह ओटीटी प्लेटफाॅर्म पर रिलीज हो रहे है तो आप पर कोई प्रेशर है?

मैंने जब मेरी फिल्में थिएटर में रिलीज हुई तब भी कोई प्रेशर नहीं लिया तो अब क्यों लुंगी? हमारे हीरोज बॉक्स ऑफिस का प्रेशर लेते है! जब कोई भी अभिनेता यह कहता है कि, मेरी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट हुई तो मुझे ताज्जुब लगता है! क्योंकि कोई भी फिल्म हिट या फ्लॉप हो तो यह पूर्ण टीम की जिम्मेदारी होती है क्योंकि फिल्म मेकिंग टीम वर्क है!

 फिल्मछोरीमें कितना सुपरनेचुरल इफेक्ट नजर आएगा?

बहुत काम इफेक्ट देखने मिलेगा आपको क्योंकि सही मायने में फिल्म काफी डरावनी कहानी और सिचुएशन पेश करती है! कोई भी  हरे कपडे-क्रोमा इफेक्ट सीन्स नहीं है इसमें,  विशाल सर ने बहुत ही साधारण और आसानी से शूट किया है हर सीन!

आपने प्रोस्थेटिक लगा कर गर्भवती महिला के किरदार के लिए उसे काफी दिनों तक पहना। इस पर टिप्पणी कीजिये? और गर्भवती महिलाओं के बारे अब क्या सोच है आपकी?

सही मायने में यह बहुत ही कठिन काम है! रील के लिए पेट बना कर घूमना ताकि मुझे गर्भवती महिला का फील हो बहुत मुश्किल काम लगा! पहली बात तो इसे हैंडल करना आसान नहीं था! मुझे आश्चर्य लगता है कि महिला, माँ, डिलीवरी कैसे कर पाती है रियल में? यदि कभी में माँ बनती हूँ और बच्चा जन्म दे रही हूँ तो मैं डॉक्टर को बोलूंगी, ‘प्लीज मुझे बेहोश कर दो!

सोनू की टीटू की स्वीटी’, ‘ड्रीम गर्लजैसी फिल्मों से जुड़ी नुसरत अब एक साइलेंट फिल्म कैसे करने के लिए तैयार हो गयी?

हालांकि मैं अलग-अलग एवं चैल्लेंजिंग रोल चुन रही हूँ! किन्तु यदि ड्रीम-गर्ल फिल्म दोबारा बनती है, मैं उस फिल्म का हिस्सा जरूर बनना चाहूंगी! मैं जनता और क्लास के लिए मासी -क्लासी किरदार करना चाहूंगी! दिल से मैं बॉलीवुड की ही लड़की हूँ, मैं बिल्कुल गाइएटी-ग्लैक्सी और चन्दन टाइप की जनता हूँ! साथ ही सशक्त और दिल को धुने वाले किरदार भी करना पसंद लेकिन कमर्शियल फिल्म्स भी मुझे करना है!

बॉलीवुड पुरुष प्रधान है! महिला प्रधान फिल्में अपने कंधे पर ला रहे है, क्या यह मिथ टूटेगा अब क्योंकि ढेरो महिला अभिनेत्री फीमेल ओरिएंटेड किरदार निभा अपने कंधे पर फिल्म लिए जा रहीं है?

मुझे नहीं पता यह मिथ की महिला प्रधान फिल्म है- यह कब खत्म होगा? क्या हम यह किसी पुरुष से पूछते है कभी -यह मेल ओरिएंटेड फिल्म है? नहीं ना पूछते? मैंने सोनू की टीटू… में विलेन की भूमिका निभाई है और सभी ने बहुत पसंद किया मेरा किरदार! बस यही कहना चाहूँगी-’आप किसी भी अभिनेत्री से उसका क्रेडिट नहीं ले सकते हो!

आपकी अगली साइलेंट फिल्म जी अशोक है यह तो बहुत अलग फिल्म होगी?

जी इस फिल्म की अभी अनाउंसमेंट नहीं हुई है इसलिए इस बारे में हम कुछ भी बात नहीं कर पाएंगे फिलहाल। पर हाँ यह किरदार किसी भी एक्टर को ऑफर होता तो कोई भी इतने बेहतरीन किरदार को करने से इंकार नहीं कर पाता  है।

आपकी आने वाली फिल्मों के बारे में कुछ बताएं?

हाँ, सही पूछा आपने, ‘रामसेतु’ अक्षय कुमार के साथ बहुत ही बेहतरीन फिल्म है! उनके साथ सेट्स पर एक घर जैसा माहौल लगा! वह खुद भी और उनकी टीम भी हम सभी का बहुत ख्याल रखते थे! सभी एक साथ घर से लाया हुआ खाना खोल कर खाते। अभी तक उन्होंने मेरे साथ कोई भी प्रैंक नहीं किया है।

जनहित में जारीफिल्म का दूसरा सैडुल्सचंदेरी और ग्वालियर में जल्द शुरू होने को है। हुरदंग बन कर रेडी है। रिलीज क्यों नहीं हो रही ,यह बात आपको प्रोडूसर से मालूम करना होगा!

SHARE

Mayapuri