धर्मात्मा का एक प्रिंट जब्त!

1 min


Dharmatma

 

मायापुरी अंक 45,1975

गुलबर्गा के एक थियेटर में चल रही ‘धर्मात्मा’ को स्थानीय पुलिस ने इसलिए जब्त कर लिया कि उसमें सैंसरके मना किये हुए सीन भी दिखाये जा रहे थे। पूरे मामले की छानबीन हो रही है। स्मरण रहे कुछ ही दिनों पहले सैंसर बोर्ड की ओर से इस आशय की शिकायत की गई थी कि सैंसरमें आने के पहले ही निर्माता अपनी फिल्मों के प्रिंट तैयार कर प्रदर्शन के लिए उन स्थानों पर भेज देते हैं जहां यह आसानी से मालूम न पड़ सके कि प्रिंट सैंसर से पास है या नहीं?‘धर्मात्मा’ की एक प्रिंट जब्त होने पर उसके निर्माता फिरोजखान उलझन में पड़ गये हैं।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये