लता से बढ़िया गाती हो क्या -जितेन्द्र

1 min


jetendra

 

मायापुरी अंक 41,1975

हर समय ‘परिचय’ के बारे में चिल्लाने वाला जितेन्द्र, अपनी नयी पिक्चर ‘कसम खून की’ के लिए अनुबंध करने के लिए सुलक्षणा पंडित के पास गये। इस पिक्चर के लिए पहले हेमा मालिनी साइन थी लेकिन बाद में उन्होंने काम करने से साफ इंकार कर दिया।

बाद में सुलक्षणा पंडित काम करने के लिए मान गईं, लेकिन जीतेन्द्र से पूछना न भूलीं,

“क्या इस पिक्चर में, मैं अपने गाने मैं खुद गाऊंगी?”

“नही”

“क्यों?

“इसलिए कि इस पिक्चर में, मैं हर टैक्नीशियन हर आदमी चुन चुन कर बढ़िया ले रहा हूं। तुम्हीं बताओं तुम क्या लता मंगेशकर से बढ़िया गाती हो?”

“फिर तो आपको हीरोइन भी सब से बढ़िया ही लेनी चाहिए।“

सुलक्षणा का उत्तर था।

सुलक्षणा लता से बढ़िया गाती हैं या नही ? इसके बारे में तो मैं कुछ नही कह सकता लेकिन अगर जीतेन्द्र की तरह और कोई यह बात कहता तो आज वह फिल्म लाईन में हीरो………?

तो क्या उनके आस पास भी कोई कहीं दिखाई देता।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये