शबाना ने शुरू कर दिया अब ठेंगा दिखाना

1 min


045-8 Shabana Azmi

 

मायापुरी अंक 45,1975

पिछले सप्ताह मुंबई टेली विजन पर फिल्म ‘परिणय’ के कलाकारों का परिचय दिया जाने वाला था और साथ में फिल्म की एक-दो रीलें दिखाई जाने वाली थीं। शाम को टेलीविजन ऑन किया तो अगलेआने वाले प्रोग्राम के बारे में एनाऊंसर ने खेद प्रगट करते हुए कहा कि यह प्रोग्राम पेश नही किया जा सकेगा।

बड़ी हैरानगी हुई। अगले दिन पता लगाने पर मालूम हुआ कि प्रोग्राम शबाना आज़मी की वजह से कैंसल हुआ है। इसलिए नही कि वह आ नहीं सकी बल्कि उनकी एक बेकार जिद की वजह से।

वह रमेश शर्मा वगैरह के साथ समय पर टेलीविजन बिल्डिंग में पहुंच गई थीं। वहां पर उन्हें पता चला कि कौन-कौन सी रील दिखाई जा रहीं हैं। एक सीन में शबाना का क्लोज़अप था जो उन्हें पसंद नही था। उनके ख्याल में वह एक भद्दा क्लोज-अप था (वैसे भी खूबसूरती के मामले में अल्ला ने उन पर दया नहीं दिखाई) शबाना ने दूरदर्शन अधिकारी को कहा कि वह क्लोज-अप काट दिया जाये अधिकारी ने उन्हें समझाया कि वह ऐसा नही कर सकते। जैसे फिल्म सिनेमा में दिखाई गई है वैसे ही दिखाई जायेगी। शबाना आज़मी ने सोचा अब वह ‘स्टार’ हो गई है और फिर यह प्रोग्राम कैन्सल न कर सकेंगे। उन्हेंने जिद पकड़ ली। जब उनकी बात नहीं मानी गई तो उत्तेजित हो गईं और बिल्डिंग छोड़कर चली गईं। ऑफिसर ने प्रोग्राम कैंसल कर दिया।

शबाना शायद यह भूल गईं थी कि टी.वी. वाले फिल्म निर्माता नहीं हैं जो उसके आगे झुक जायेंगे


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये