रेखा, मधुबाला और काजोल को डांस सिखाने वाली सितारा देवी की 101 वीं बर्थ एनिवर्सरी पर निर्माता ने की उनकी बायोपिक की घोषणा

1 min


  • छवि शर्मा

दिग्गज कथक डांसर सितारा देवी को कौन नहीं जानता वह डांस की दुनिया का एक जाना-माना नाम हैं। आज सितारा देवी का जन्दीन है। वहीँ उनके इस जन्मदिन पर उनसे जुडी एक नई ख़बर सामने आई हैं। खबर है की जल्द ही उनपर एक बायोपिक आने वाली है। जी हां दरसल निर्माता ने आज सोमवार को उनकी 101 वीं बर्थ एनिवर्सरी के अवसर पर इस बात कि घोषणा की। फिल्म का निर्माण राज आनंद मूवीज के राज सी आनंद ने किया है।

सितारा देवी के बेटे और प्रसिद्ध संगीतकार रंजीत बरोट अपनी मां के जीवन में गहरी अंतर्दृष्टि साझा करके परियोजना का मार्गदर्शन करेंगे। बरोट ने कहा कि वह “उत्साहित” हैं कि उनकी मां के जीवन पर एक फिल्म बनाई जा रही है। बरोट एक ऐसी महिला की आकर्षक कहानी लाने के लिए शोध में मदद कर रहे है, जिसने “नारीवाद और नारीत्व को अपनी शर्तों पर जीवन जीने के द्वारा फिर से परिभाषित किया”।

आनंद ने कहा कि वे सितारा देवी की कहानी को बड़े पर्दे पर जीवंत करने के लिए उत्सुक हैं। निर्माता ने कहा, “हमें विश्वास है कि उनकी कहानी एक आकर्षक समय बनाएगी और हम यह सुनिश्चित करेंगे कि फिल्म उतनी ही आकर्षक हो, जितना कि उनका वास्तविक जीवन हुआ करता था।” निर्माताओं ने कहा कि फिल्म प्री-प्रोडक्शन चरण में है और जल्द ही कलाकारों और निर्देशक की घोषणा की जाएगी।

आपको बतादे अभिनेत्री रेखा, मधुबाला और काजोल को डांस सिखाने वाली सितारा देवी को संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, पद्म श्री और कालिदास सम्मान सहित कई पुरस्कार प्राप्त हुए हैं। 1920 में उस समय कलकत्ता के नाम से विख्यात शहर में जन्मी सितारा देवी ने अपने पिता द्वारा एकत्रित विषयों, कविता और नृत्यकला से प्रेरणा ली। वह अपने आस-पास के वातावरण से भी प्रेरित हुई- चाहे वह शहर हो या गाँव।

छह दशकों से अधिक समय तक शास्त्रीय नृत्य शैली में उनके योगदान के लिए उन्हें लीजेंड ऑफ इंडिया लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड 2011 से सम्मानित किया गया था। सितारा देवी का लंबी बीमारी के बाद 25 नवंबर 2014 को मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो गया था।

SHARE

Chhavi Sharma