पर्दे के पीछे: हेमा मालिनी – किस्मत की धनी और प्रतिभा में ?

1 min


मायापुरी अंक, 56, 1975

पता चला है कि पाकिस्तान का सुप्रसिद्ध हीरो मुहम्मद अली एक पिक्चर बने रहे हैं। पिक्चर अंग्रेजी में होगी। इंटरनेशनल मार्केट के लिए। इस फिल्म के लिए वह हॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता औमर शरीफ़ और रिचर्ड बर्टन को ले रहे है और जानते है हीरोइन के लिए किस को सोचा जा रहा है वह है हमारी प्रसिद्ध नंबर एक हीरोइन हेमा मालिनी।

अगर ऐसा हो गया तो मैं यकीन के साथ कह सकता हूं कि वह इंटरनेशनल मार्केट में चमकेगी और ऐसा चांस आज तक किसी भारतीय हीरोइन को नही मिला है।

हेमा मालिनी बड़ी किस्मत वाली है वरना इतने थोड़े समय मे वह आज इतने टॉप पर न होती। आज हेमा की यह हालत है कि अगर वह किसी हीरो के साथ काम करना बंद कर दे तो उस हीरो की मार्केट कम हो जाती है क्योंकि आज हेमा के बगैर बड़े सेट अप की फिल्में बहुत ही कम है। कई हीरो धर्मेन्द्र से इसीलिए खार खाते है कि वह हेमा मालिनी के बहुत करीब है। हेमा को एक्टिंग के दृष्टिकोण से देखा जाये तो वह साधारण किस्म की आर्टिस्ट गिनी जायेगी मुझे उसका काम सिर्फ ‘लाल पत्थर’ और खुशबू में पसंद आया लेकिन अगर कोई किस्मत का धनी हो तो कौन रोक सकता है? इसीलिए मैं कहता हूं, मुझे कोई अचम्भा नही होगा अगर कल वह हॉलीवुड के पर्दे पर भी चमकने लगे। आज किस्मत उसके साथ है। वह कहीं भी पहुंच सकती है।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये