वंदना एक जिद्दी और बहुत केयरिंग होममेकर है – परिवा प्रणति

1 min


सोनी सब के साथ जुड़ना कैसा लगता है? अपने किरदार के बारे में हमें कुछ बताइये। – मायापुरी प्रतिनिधि

मैं इस शो में वंदना वागले का किरदार निभा रही हूँ, वह एक जिद्दी महिला है, जो गृहिणी भी है और अपने बच्‍चों और परिवार की देखभाल कर रही है। वह वागले परिवार की रीढ़ है और अपने ससुराल वालों के साथ उसका रिश्‍ता जबर्दस्‍त है। वह उनकी देखभाल करना पसंद करती है और उनके साथ अपने लगाव का मजा लेती है। मैं सोनी सब के साथ तीसरी बार जुड़ी हूँ और इसका अहसास बहुत अच्‍छा है। ऐसे शोज का हिस्‍सा बनना बेहतरीन लगता है, जो खुशियाँ फैलाते हैं और आज की दुनिया में ऐसे शोज सचमुच महत्‍वपूर्ण हैं। उनके शोज परिवार और जीवन के मौलिक सम्‍बंधों के महत्‍व पर जोर देते हैं और बताते हैं कि एक सोसाइटी के लोगों के साथ सह-अस्तित्‍व कितना महत्‍वपूर्ण है। वागले की दुनिया वह शो है, जो हमारी जिन्‍दगी में पेरेंट्स के महत्‍व पर बात करता है और यह अच्‍छी तरह से लिखी गई एक कहानी और मजबूत किरदारों का अनोखा मेल है। चूँकि हम आमतौर पर अपने पेरेंट्स से जानकर या अनजाने में मिलते हैं, इसलिए रिश्‍तों को हल्‍के में लेना शुरू कर देते हैं और पिछला वर्ष हम सभी के लिये परीक्षा की घड़ी रहा है। उन महीनों ने हमें अपनी जिन्‍दगी के हर रिश्‍ते के बारे में बहुत कुछ सिखाया है। यह शो भी इस फैक्‍टर के इर्द-गिर्द है।  सोसाइटी के साथ हमारा रिश्‍ता मायने रखता है और हर किसी की जिन्‍दगी में छोटे-छोटे रिश्तों का महत्‍व होता है। ऐसी यात्रा का हिस्‍सा बनना बहुत अच्‍छा अनुभव देता है, जिसकी मंशा दर्शकों के बीच सकारात्मकता फैलाने और उन्‍हें खुश रखने की हो।

 दर्शक वागले की दुनिया से इस बार क्‍या उम्‍मीद कर सकते हैं?

मुझे लगता है कि वागले की दुनिया का पहला सीजन इस बड़ी और बुरी दुनिया में आम आदमी के संघर्ष पर आधारित था, लेकिन इस बार यह ऐसे साधारण आदमी पर आधारित है, जिसके पारिवारिक मूल्‍य बहुत ऊँचे दर्जे के हैं और जो कभी भी अपने पेरेंट्स का अनादर नहीं करता है और जरूरत पड़ने पर अपने पेरेंट्स का पेरेंट बन जाता है। शो में हम इसी समीकरण को स्‍थापित कर रहे हैं और इन भावनाओं से हर कोई जुड़ सकता है। भावनाओं के ज्‍वार के साथ हम उन मुद्दों को एक्‍सप्‍लोर कर रहे हैं, जो समाज के हैं और यह कि हम कुछ लोगों के लिये कितने आलोचनात्‍मक हो जाते हैं, यह देखे बिना कि वे हर दिन चुप-चाप कितनी लड़ाइयाँ लड़ रहे हैं। इसलिये हम खुशियाँ फैलाने पर ध्‍यान दे रहे हैं और लोगों को खुश और संतुष्‍ट करना चाह रहे हैं।

 कृपया अपने किरदार वंदना वागले के बारे में कुछ बताइये। क्‍या आप उससे रिलेट करती हैं?

वंदना वागले एक सकारात्‍मक, उत्साही और मस्ती पसंद करने वाली किरदार है। वह एक माँ, बहू और पत्‍नी के रूप में अपने सभी दायित्‍वों का खूबसूरती से निर्वाहन करती है। मैं अपनी असल जिन्‍दगी में उसकी सभी भावनाओं का अनुभव करती हूँ, इसलिए य‍ह किरदार सभी पहलूओं में मेरे लिये बहुत रिलेटेबल बन जाता है। सकारात्‍मकता फैलाने से लेकर पूरे परिवार को एकजुट रखने, अपने ससुराल वालों को स्‍वीकारने और उन्‍हें अपना पेरेंट मानकर व्‍यवहार करने तक वंदना वागले सब कुछ करती है! यह समीकरण हर बहू के लिये जरूरी है, साथ ही अपनी जिन्‍दगी में अलग-अलग रिश्‍तों को स्‍वीकार करना और उन्‍हें पूरा महत्‍व देना भी।

 वागले की दुनिया में एक परिवार की तीन पीढियाँ दिखाई गई हैं। आज के समय में संयुक्‍त परिवार के महत्‍व के बारे में आपके क्‍या विचार हैं?

मुझे लगता है कि पिछला साल चुनौतियों से भरा रहने के कारण संयुक्‍त परिवार की अवधारणा फिर से उभरी है, खासकर क्‍योंकि न्‍यूक्‍लीयर फैमिलीज अचानक फँस गई थीं और हर कोई अपने पेरेंट्स की चिंता कर रहा था। हमारा शो एक-दूसरे को जरूरी महत्‍व देने और मिल-जुलकर खुश रहने के बारे में है, किसी की जिन्‍दगी में दखल दिये बिना, लेकिन पेरेंट्स के थोड़े दखल के लिये हमेशा खुला रहते हुए।

 यह भारत में सबसे ज्‍यादा पसंद किए गए शोज में से एक है। क्‍या इस कारण कोई दबाव आ रहा है?

ऐसे शो का हिस्‍सा बनना सुखद अहसास देता है, जिसे दर्शक बहुत ज्‍यादा प्‍यार करते हैं और जिसके किरदार हर घर के लिये परिचित बन जाते हैं। मेरे हिसाब से आतिश कपाड़िया आज के सर्वश्रेष्‍ठ लेखकों में से एक हैं और उन्‍होंने बेहतरीन काम किया है, जिससे दबाव कम हुआ है। वे आज के परिदृश्‍य के अनुसार पारिवारिक रिश्‍तों और मूल्‍यों का परफेक्‍ट चित्रण करते हैं और ऐसी शानदार कहानी के चलते आप बेहतर परफॉर्म करने और उसे खुद के और अपने दर्शकों के लिये यादगार बनाने की कोशिश करते हैं।

 पूरे कास्‍ट और क्रू के साथ इस शो की शूटिंग का अनुभव कैसा रहा?

शूटिंग का अनुभव बेहतरीन रहा और सेट पर हर किसी के साथ मेरी खूब पटती है। हम सभी जानते हैं कि सुमित एक लीजेंड हैं और उनके अलावा हमारे पास दो अनुभवी ऐक्‍टर्स अंजान सर और भारती मैडम भी हैं। उन्‍हें परफॉर्म करते देखना बहुत अच्‍छा लगता है हम बैठ जाते हैं और उन्‍हें गौर से देखते हैं और पाते हैं कि वे कितनी आसानी से कई भावनाओं को व्‍यक्‍त कर देते हैं। यह शो मेरे लिये बहुत खास है और करोड़ों लोगों के दिल को छूने का अहसास बेजोड़ है।

अपने दर्शकों के लिये कोई संदेश?

मेरे फैंस ने लगातार हमें जो असीम प्‍यार और समर्थन दिया है, उसके लिये उनका धन्‍यवाद। “वागले की दुनिया” मूल्‍यों पर आधारित मनोरंजन का एक संपूर्ण पैकेज है, जो टेलीविजन को दर्शकों के लिये खुशनुमा बना रहा है और तीन पीढियों के लिये आनंदित होने का कारण है। आज की दुनिया में, मेरे हिसाब से हम सभी को  संतुष्‍ट रहने और अपनी खुशी को सबसे ज्‍यादा महत्‍व देने की जरूरत है। तो देखते रहिये और परिवारों को एकजुट रखने के इस  समृद्ध अनुभव में हमारे साथ जुड़िए, ताकि हमारे घर ज्‍यादा खुश रहें। खुश रहिये, स्‍वस्‍थ रहिये!

सोनी सब के वागले की दुनिया- नई पीढ़ी नये किस्‍से में परिवा प्रणति को वंदना वागले की भूमिका में देखिये, सोमवार से शुक्रवार रात 9 बजे!


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये