INTERVIEW!! ‘‘इस फिल्म में आप मुझे एक नये रंग में देखेंगे’’ – परवीन डबास

1 min


फिल्म ‘जब तुम कहो’

तपिश, मानसून वेडिंग, खोसला का घोसला, दिल्लगी, पर्फेक्ट हसबैंड, द हीरो, रांग नंबर, मुस्कान आदि करीब दर्जन भर से ज्यादा फिल्में कर चुके, परवीन डबास इन सारी फिल्मों से अपने आपको एक बेहतरीन अभिनेता साबित कर चुके हैं। परवीन ने हिन्दी के अलावा कुछ साउथ इंडियन फिल्मों में भी काम किया। उनकी आने वाली फिल्म का नाम है ‘जब तुम कहो’। फिल्म में लीड रोल के तहत उन्होंने एक अलग सी भूमिका निभाई है। फिल्म और फिल्म में अपनी भूमिका को लेकर क्या कहना है परवीन डबास का।

एक अरसे बाद किसी फिल्म की मेन लीड में दिखाई देने जा रहे हो ?

ऐसा नहीं है। इससे पहले मैंने फिल्म रागिनी ‘एमएमएस पार्ट 2’ में मेन नहीं लेकिन लीड रोल निभाया था।

इस रोल के बारे में क्या कहना है ?

आप कह सकते हैं कि ये मेरी रोल मेरी उम्र से काफी मेल खाता है और शायद इसीलिये मुझे ये मिला भी। भूमिका यह है कि बहुत पहले अमीर आदमी के लिये एक लड़की मेरा दिल तोड़ कर जा चुकी है। उसके बाद से मैं अकेला हूं, लेकिन अचानक एक बार फिर मेरा अटैचमेन्ट एक बंगाली लड़की के साथ हो जाता है। उसके बाद मैं ट्रेन पकड़ के कोलकाता जाता हूं वहां लड़की से मिलने के बाद कहानी आगे बढ़ती है।

आप स्टार नहीं एक्टर्स में शुमार होते हैं लेकिन क्या वजह रही बावजूद इसके आपके करियर की रफ्तार काफी धीमी रही ?

रागिनी ….के बाद मैं कुछ और कर रहा था इसलिये इस बीच दो साल का गैप आ गया। हमने अपना प्रोडक्शन भी शुरू किया हुआ है उसमें बनी एक फिल्म रिलीज भी हो चुकी है। इन दिनों हम कुछ आगे के प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे हैं।

Praveen-dabbasdfd

 जब तुम कहो जैसी एक अलग तरह की फिल्म में काम करने का कैसा अनुभव रहा ?

बढ़िया रहा, क्योंकि इस तरह की फिल्मों का जॉनर कॉमेडी ही होता है, फन होता है। लिहाजा इसे शूट भी काफी फनी वे में किया गया ।

बदलते माहौल में आज आप जैसे अदाकारों की जरूरत हैं बावजूद इसके आप कहां है ?

ऐसा नहीं है। काम तो मैं लगातार कर रहा हूं। दरअसल हम काम करते रहते हैं लेकिन वो काम न्यूज में नहीं होता, इसलिये कई बार हमें गायब समझ लिया जाता है। इस फिल्म के बाद मेरी दो और फिल्में आ रही हैं। एक फिल्म का नाम हैं ‘द मिरर गेम’ जो न्यूयॉर्क में शूट हुई है। दूसरी फिल्म है कुलदीप पटवल…। ये दोनों भी अलग किस्म की फिल्में हैं। ऐसा नहीं हैं कि मेरे पास काम नहीं है लेकिन शायद मैं औरों की तरह अपने काम को लेकर ढोल नहीं बजा पाता, जो मुझे बजाना चाहिये ।

अभी तक आप दो दर्जन से कहीं ज्यादा फिल्में कर चुके हैं। उनमें से अपनी पसंदीदा पांच फिल्मों के नाम बतायेगें ?

मानसून वेडिंग, खोसला का घोसला, माई नेम इज खान, वाया दार्जलिंग तथा एमएमएस पार्ट टू।

Praveen-dabbas

कॉमेडी को कैसे लेते हैं ?

मुझे कॉमेडी करना बहुत अच्छा लगता है। थियेटर में मैने बहुत कॉमेडी की है। इसके बाद रागिनी ‘एमएमएस पार्ट 2’ में मुझे पहली बार लार्ज स्केल पर कॉमेडी करने का अवसर हासिल हुआ तथा खोसला का घोसला में मेरा किरदार सीरियस था लेकिन वहां कॉमेडी न करते हुये भी कॉमेडी हुई और अब इस फिल्म में आप मुझे एक नये रंग में देखेंगे ।

आपकी एक्ट्रेस पत्नि प्रिति झिंगयानी क्या कर रही हैं ?

फिलहाल तो वे बच्चों में व्यस्त हैं लेकिन जल्दी ही वे कुछ करेंगी ।

 

 

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये