पृथ्वीराज कपूर और न्यू थियेटर

1 min


prithviraj-kapoor1

 

मायापुरी अंक 46,1975

सुप्रसिद्ध कलाकार पृथ्वीराज कपूर ने अपने बीते हुए दिनों के बारे में बताया था कि एक बार वह न्यू थियेटर में लिखी फिल्म की शूटिंग देखने गये थे। जबकि वह खुद फिल्म कलाकार नहीं बने थे। एक दृश्य को फिल्माया जा रहा था और उसको छ: बार दोहराया गया था। परन्तु बी.एन.सरकार जो उस वक्त वहां पर बैठे हुए थे, उनके चेहरे पर जरा भी क्रोध नही पैदा हुआ था बल्कि वह तो बड़े आराम से सिगरेट फूंकते रहे। श्री सरकार प्रत्येक हरकत को बड़े ध्यान से देख रहे थे। जब पृथ्वीराज बाहर आने को हुए तो उनका पैर किसी चीज से टकरा गया और गिर पड़े एवं घुटने से खून बहने लगा। इस घटना को देखकर एक व्यक्ति ने कहा था कि एक दिन तुम न्यू थियेटर के साथ काम करोगे। क्योंकि यह पम्परा रही है कि जिसने भी न्यू थियेटर के लिए खून बहाया है, वह न्यू थियेटर का एक अभिन्न अंग बन गया है। और वास्तव में यह बात सच भी हो कर रही थी।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये