गेम चेन्जर प्रियंका उस खेल में हार जाती है

1 min


 

surfing 24 2प्रियंका चोपड़ा को बॉलीवुड में गेम चेन्जर नायिका माना जाता है लेकिन जब ताश खेलने की बारी आती है तो प्रियंका से अनाड़ी और कोई हो ही नहीं सकती है खुद प्रियंका भी यह मानती है। दीपावली के मौके पर जब कार्ड खेलने की बातें उठी तो वह बोली, मुझे दीपावली का त्योहार सब से प्यार जरूर है लेकिन जब ताश खेलने की बारी आती है तो मैं सकपका जाती हूँ क्योंकि जब जब मैंने ताश की पत्तियों में हाथ आजमाया है मैं हारी हूँ इसलिए अब कार्ड गेम को मैं दूर से ही नमस्कार करती हूँ तो क्या करती है प्रियंका जब उनके परिवार के लोग शगुन की पत्तियाँ खेलते हैं यह पूछने पर प्रियंका मुस्कुराती हुई बताती है मैं भला क्या कर सकती हूँ, परिवार के सब लोग जब महफिल जमाये ताश खेलते हैं तो मैं चुपचाप एक कोने में बैठी देखती रहती हूँ कौन क्या चाल चल रहा है। वैसे ताश में बाजी हारने का अफसोस नहीं है प्रियंका को क्योंकि यह कहावत प्रसिद्ध है कि जो ताश की बाजियों में हार जाता है वह जिन्दगी की अन्य सब बाजियाँ जीत जाता है।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये