INTERVIEW!! ‘‘मैं खड़ूस नहीं रिजर्व नैचर का हूं’’ – पुलकित सम्राट

1 min


बॉलीवुड में बिट्टू बॉस से पदार्पण कर चुके पुलकित सम्राट बेशक फुकरे, जय हो, ओ तेरी, डॉली की डोली तथा बंगिस्स्तान आदि फिल्मों के आने के बाद भी अभी तक अपनी एक पुख्ता जगह नहीं बना पाये। इसी सप्ताह उसकी दिव्या खोसला कुमार निर्देशित फिल्म‘ सनम रे’ रिलीज होने जा रही हैं। फिल्म को लेकर पुलकित का क्या कहना है ।

फिल्म को लेकर कितने नर्वस हैं ?

नर्वस तो नहीं हूं क्योंकि नर्वस शॉट से पहले हुआ करता था लेकिन फिल्म कंपलीट होने के बाद नहीं। हां इस बात को लेकर एक्साइटमेंट जरूर हैं कि फिल्म वेलेनटाइनडे पर रिलीज होने जा रही है। इसलिये यूथ फिल्म से जरूर रिलेट करेगा ।

फिल्म को लेकर क्या सोच है?

जैसा कि हमें रिपोर्ट मिल रही हैं कि सोशल मीडिया पर दर्शकों को फिल्म का ट्रेलर और फिल्म के गाने बहुत पसंद आ रहे हैं। लिहाजा इस तरह आधी जंग तो जीती जा चुकी है। दूसरे आज दर्शक बहुत स्मार्ट हो गया है। क्योंकि वो फिल्म के बारे में उसके ट्रेलर या प्रोमो से ही पता लगा लेता हैं कि वो देखने लायक हैं भी या नहीं ।

Pulkit-samrat

अपने कैरेक्टर के बारे में क्या बताना चाहेगें ?

मेरे किरदार का नाम आकाश है जो स्माल टाउन कनक पुर से है । आगे अपनी पढ़ाई पूरी करने और काम के सिलसिले में वो मुबंई आ जाता है । मुंबई की जगह कोई और बड़ा शहर भी हो सकता था। जैसा कि कहा जाता हैं कि बड़े शहरों के शौर शराबे में आप अपने दिल की आवाज भी नहीं सुन पाते । लिहाजा आकाश  भी यहां की चहल पहल में खो कर रह जाता हैं और अपने रूट से हट जाता है । उसके आसपास एक दीवार बन चुकी है जो उसे अनकंपलीट बनाती है। बाद में किस तरह श्रुति उसे जीना सीखाती है। इसके बाद श्रुति और आकाश किस तरह एक हो जाते हैं ।

फिल्म की डायरेक्टर दिव्या खोसला के बारे में क्या राय रखते हैं ?

दिव्या बहुत ही डेडीकेटिड और मेहनती डायरेक्टर हैं इससे पहले वे एक हिट फिल्म दे चुकी हैं । आई होप उनकी ये फिल्म फिल्म भी सुपर हिट साबित हो ।

Pulkit Samrat, Divya-khoshla kumar, Yami Gautam
Pulkit Samrat, Divya-khoshla kumar, Yami Gautam

स फिल्म से आपका कैसे जुड़ना हुआ ?

दरअसल मैं ऑल रेडी टी सीरीज की एक फिल्म ‘जुनूनियत’कर रहा हूं, उसमें भी मेरे अपोजिट यामी गौतम ही हैं। एक दिन मुझे दोबारा टी सीरीज से कॉल आया। मुझे भूषण कुमार जी ने कहा कि हम तुम्हारे साथ एक और फिल्म प्लान कर रहे हैं । तुम आओ और कहानी सुन लो । मुझे कहानी और स्क्रीनप्ले बहुत ही धांसू लगा। इसके अलावा मेरी भूमिका भी बहुत अलग और अच्छी थी । उसी दौरान मुझे पता चला कि उस फिल्म को दिव्या कुमार डायरेक्ट करने वाली हैं। मैं उनसे मिला तो उन्होंने मुझे कहा कि पता है मैं तुम्हें इस फिल्म के लिये क्यों साइन कर रही हूं। तो मुझे लगा कि वे अब आगे मेरी तारीफ करते हुये कहेगीं कि तुम हमारे साथ एक फिल्म कर रहे हो, मुझे तुम्हारा काम अच्छा लगा वगैरह वगैरह, लेकिन उनका तो कुछ और ही कहना था। उन्होंने कहा कि ये जो तुम्हारे चेहरे और तुम्हारी आंखों मे हमेशा उदासी छाई रहती है वो मेरी जरूरत हैं इसलिये मैने तुम्हें इस फिल्म के लिये साइन किया। बाद में शूटिंग के दौरान मैं अक्सर उनसे इस बात को लेकर जोक करता रहता था ।

CZznXgDUEAAzEu0

सेट पर आप और यामी काफी एटीट्यूट दिखाते थे ?

ऐसा कतई नहीं था । दरअसल जिस प्रकार मैं थोड़ा रिर्जव नैचर का हूं यामी मुझसे भी ज्यादा रिजर्व है, इसलिये शुरूआत में हम एक दूसरे से ज्यादा बातचीत नहीं करते थे। यामी को देखकर मुझे लगता था कि यार इतना एटीट्यूट भी किस काम का, कि आप एक दूसरे से सलाम दुआ तक न करो। बाद में पता चला कि यामी भी मेरे बारे ऐसा ही सोचती थी। फिर सब कुछ सही हो गया, लेकिन यूनिट के लोग बाद में भी यही कयास लगाते रहते थे कि हम दोनों में से महाखड़ूस कौन। और बाद में हमें भी ये सब सुनने की आदत सी पड़ गई थी ।

 

 

SHARE

Mayapuri