पूरब से पश्चिम की ओर जाता मनोज

1 min


Purab_Aur_Paschim_Still

 

मायापुरी अंक 11.1974

निर्माता-निर्देशक के रूप में मनोज साहब की पहली फिल्म थी ‘उपकार’ यह फिल्म अपने समय में सुपरहिट रही फिर बनी ‘पूरब और पश्चिम यह फिल्म सुपर हिट तो नही, हा, हिट जरूर थी। इसके बाद आई शोर, जिसका प्रदर्शन से पूर्व ही बहुत शोर मचाया गया था। यह फिल्म हिट तो नही थी, पर निर्माता वितरकों को कमाई करवा गई। अब आई है ‘रोटी कपड़ा और मकान’ इसके बारे में फिल्मी हल्के मे यह आम राय है कि यह फिल्म न तो उपकार’ जैसी हिट होगी न ही ‘मेरा नाम जोकर’ जैसी पिटेगी। क्या बात है मनोज साहब जो ज्ञान, उत्साह और नऐ विचारों का सूर्य आपने ‘उपकार’ के साथ फिल्माकाश के पूर्व मे उदित किया था, क्या उसे पश्चिम में पहुंचा कर ही दम लेंगे


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये