स्‍वतंत्रता दिवस पर सोनी सब के कलाकारों के विचार

1 min


हिबा नवाब ऊर्फ जीजाजी छत पर कोई है की सीपी शर्मा:

स्‍वतंत्रता दिवस हम सभी के लिये एक बहुत ही महत्‍वपूर्ण दिन है, क्‍योंकि इस दिन ही हमारा देश स्‍वतंत्र हुआ था और हमें अंग्रेजों की गुलामी से आजादी मिली थी। अपने स्‍कूल के दिनों में, हम हर इंडिपेंडेंस डे के दिन सफेद कपड़े और तीन रंगों वाला दुपट्टा पहनने थे, देशभक्ति के गानों पर परफॉर्म करते थे और तरह-तरह के कार्यक्रमों में हिस्‍सा लेते थे। आज भी मैं जब हमारा राष्‍ट्रगान गाती हूं, तो मुझे बहुत गर्व का अनुभव होता है।

हर साल, हमारी सोसायटी (बिल्डिंग कंपाउंड) में हम झंडा फहराते हैं और गर्व के साथ राष्‍ट्रगान गाते हैं। इसके बाद हम स्‍वादिष्‍ट मिठाईयां खाते हैं और खूब मस्‍ती करते हैं। इस साल, स्‍वतंत्रता दिवस के दिन मैं शूटिंग से छुट्टी लूंगी और अपने परिवार वालों एवं दोस्‍तों के साथ इस दिन को मनाऊंगी।

मैं अपने सभी प्रशंसकों को स्‍वतंत्रता दिवस की शुभकामनायें देना चाहूंगी और उनसे अनुरोध करती हूं कि खुद को उन सभी चीजों से आजाद करें, जो उन्‍हें अपने सपनों को पूरा करने से रोक रही हैं। मेरा मानना है कि आजादी हर किसी का अधिकार है और अब समय आ गया है कि आप दुनिया को दिखा दें कि आप क्‍या हैं।

सायंतनी घोष ऊर्फ तेरा यार हूं मैं की दलजीत बग्‍गा:

स्‍वतंत्रता दिवस बचपन से ही मेरे मन, आत्‍मा और दिल में बसा हुआ है। मैं जब भी हमारा राष्‍ट्रगान या कोई भी देशभक्ति का गाना सुनती हूं, तो मेरे मन में एकता का भाव उत्‍पन्‍न हो जाता है और महसूस होता है कि एक राष्‍ट्र के रूप में हम सभी एक हैं।

झंडारोहण मेरी सबसे महत्‍वपूर्ण यादों में से एक है और स्‍वतंत्रता दिवस बचपन से ही मेरी यादों में समाया हुआ है। मैं इस दिन सफेद रंग की सलवार-कमीज और साथ में केसरिया या नारंगी रंग का दुपट्टा पहनना पसंद करती हूं। इस साल मैं अपने दोस्‍तों और परिवार वालों के साथ घर पर रहूंगी और कुछ अच्‍छा खाऊंगी।

सिद्धार्थ निगम ऊर्फ हीरो-गायब मोड ऑन के शिवाय:

स्‍वतंत्रता दिवस हमें याद दिलाता है कि हमें आज जो आजादी मिली है, उसके पीछे कितनों लोगों का बलिदान शामिल है। मुझे बहुत गर्व है कि मैं एक भारतीय हूं। अपने बचपन के दिनों में मैं सफेद कपड़े पहनने और फूल लेकर स्‍कूल जाने के लिये बहुत उत्‍साहित रहता था।

हम आज स्‍वतंत्र हैं और इसका पूरा श्रेय हमारे स्‍वतंत्रता सेनानियों के प्रयासों को जाता है। उनके बलिदानों की बदौलत ही आज हमें यह आजादी मिली है। मुझे लगता है कि सिर्फ इन देशभक्ति वाले दिनों में ही हमारे मन में देशभक्ति की भावना नहीं होनी चाहिये, बल्कि हमें हर दिन ऐसा काम करना चाहिये, जिससे हमारे देश और इसके स्‍वतंत्रता सेनानियों को गर्व हो।

अंजू जाधव ऊर्फ वागले की दुनिया की कियारा :

स्‍वतंत्रता दिवस हमारे स्‍वतंत्रता सेनानियों के लंबे संघर्ष का परिणाम है और यह युवा पीढ़ी को देश की सेवा करने के लिये प्रेरित करता है। इसलिये, देशभक्ति की भावना को जीवंत बनाये रखने के लिये इंडिपेंडेंस डे सेलिब्रेशन जरूरी है। मेरे पिता इंडियन आर्मी में थे और इसलिये मेरे लिये यह दिन हमेशा से ही और भी खास रहा है। मैं इससे खुद को बहुत मजबूती से जोड़कर देख पाता हूं। इस दिन का जश्‍न मनाने के बारे में एक सबसे अच्‍छी बात थी स्‍कूल में हमारे यूनिफॉर्म्‍स पर राष्‍ट्रीय ध्‍वज को लगाना, मिठाईयां खाना, फैंसी ड्रेस कॉम्‍पीटिशन और स्‍टेज ड्रामा।

यह मेरी बचपन की कुछ ऐसी खुशनुमा यादें हैं, जो मेरे साथ हमेशा बनी रहेंगी। इस साल, यह दिन और भी खास है, क्‍योंकि हमारे सभी ओलंपिक खिलाड़ी स्‍पेशल गेस्‍ट हैं। मैंने अपने घर को इंडिपेंडेंस डे थीम से सजाने और अपने दोस्‍तों को बुलाकर एक छोटा सा गे-टुगेदर करने की भी योजना बनाई है। हम एक साथ मिलकर गेम्‍स खेलेंगे, देशभक्ति वाली फिल्‍में देखेंगे और ढेर सारी मस्‍ती भी करेंगे।

मैं अपने प्रशंसकों से कहना चाहूंगी कि इस दिन को भरपूर उत्‍साह के साथ मनाईये। हम सभी को अपने देश से प्‍यार करना चाहिये और वह काम करना चाहिये, जिससे हमारे परिवार वालों एवं देश को गर्व हो। सुरक्षित रहें और मौज-मस्‍ती का आनंद उठायें।

SHARE

Mayapuri