INTERVIEW!! “मेरी “लवर ब्वॉय” इमेज को में बदलना चाहता था” – आर माधवन

1 min


लिपिका वर्मा

आर माधवन ने समय समय पर यह साबित किया है कि वह बॉलीवुड में रहने आये हैं। अलग अलग किरदारों को निभाया है माधवन ने और अब “लवर ब्वॉय” इमेज के मरने से पहले उन्होंने फिल्म “साला खडूस” में एक बहुत ही खडूस कोच का किरदार निभाया है।

लिपिका वर्मा के साथ दिल खोल कर मायापुरी के लिए कुछ सवालों के जवाब भी दिए माधवन ने –

साला खडूस के लिए आपको निर्माता नहीं मिल पा रहे थे क्या कहना चाहेंगे ?

जी हाँ यह स्क्रिप्ट मेरे दिल के करीब है सो मैंने इसके लिए जी जान लगा दिया और मेरा यह दृढ़ निश्चय था कि चाहे मुझे अपनी ज़मीन जायदाद बेचनी पड़े तो भी मैं यह फिल्म जरूर बनाऊंगा। यहां  तक कि हमने जहां से शुरू किया था यानि एक रूम किचन के फ्लैट से – हम वापस उस स्तर पर भी जाने के लिए तैयार थे।

IndiaTv3f9600_madhavan

आप अभिनेता और निर्माता दोनों ही काम कैसे कर पाये?

देखिये आखिर में मैंने राजू हिरानी को कहानी सुनाई और उन्हें वह कहानी बहुत पसंद आई सो उनके होते हुए मुझे सिर्फ अभिनय पर ध्यान देना था। मुझे याद है मैं रात के 12 बजे उनके घर गया था उन्हें कहानी सुनाने। वह तब सोच रहे थे कि मैं पागल हो गया हूँ। किन्तु कहानी सुनकर बहुत खुश हुए और मेरे पागलपन को उन्होंने ही पहचाना। आखिर में राजू मेरे साथ आये यह मेरे लिए बहुत अच्छा साबित हुआ।

इस किरदार से मेरा गुस्सैल अवतार सब के सामने आ जाएगा। …हंस कर बोले मेरी पत्नी भी कहती है, “अब सबको यह मालूम हो जायेगा कि आप कितने गुस्सैल हो और वह लवर ब्वॉय इमेज तो बस पर्दे के लिए ही थी।

“साला खडूस” से क्या उम्मीद है ?

मैंने इस फिल्म को करीब 12 साल अपने दिल के करीब रखा है और मुझे मालूम है कि मैं एक बहुत बड़ा रिस्क ले रहा हूँ। किन्तु यह भी जानता हूँ कि फिल्म लोगों को पसंद आने वाली है।

saala-khadoos-759

आप राजू हिरानी के पास पहले क्यों नहीं गए?

मुझे दोस्ती का फायदा नहीं उठाना था। किन्तु जब कोई भी इस फिल्म को करने के लिए तैयार नहीं हुआ तब मैंने उनके पास जाने का निश्चय किया और मैं खुश हूँ वह भी वही देख पाये जो मैं इस कहानी मैं देख रहा था।

कुछ रुक कर माधवन बोले,” मुझे याद है जब तनु वेड्स मनु पार्ट टू का आखिरी सीन कर रहा था तब मैं साला खडूस की तैयारी में लगा था। निर्देशक आनंद राय ने मुझे तब कहा भी था, “इतने चौड़े कंधे और इस अवतार में तुम कैसे तनु वाले हसबैंड बन सकते हो ? तब मुझे अपने शरीर को उतारने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ी।

तमिल में और हिंदी में बन रही है यह फिल्म?

जी हाँ, तमिल में तो मुझे नेगेटिव किरदार में लोगों ने पसंद किया है उम्मीद है कि बॉलीवुड में भी मेरे नेगेटिव किरदार को मान्यता जरूर मिलेगी।

 

R. Madhavan with  Boxer Ritika Singh
R. Madhavan with Boxer Ritika Singh

आपके पुत्र भी आपकी तरह स्टार बनना चाहते हैं ?

वह लम्बा-चौड़ा है और उसके मन में यह विचार तो आ ही गए हैं कि मेरी फिल्में अच्छा कर रही हैं या नहीं। वह मुझ से काफी कुछ विचार विमर्श भी करता है। खिलाड़ी भी है, उसे मेरी ही तरह स्पोर्ट्स में रूचि भी है। आगे क्या करना चाहेगा हमें नहीं मालूम ? लेकिन जो कुछ भी करना चाहेगा हम उसका समर्थन जरूर करेंगे।”

एक लेडी डायरेक्टर के साथ काम करने का अनुभव कैसा रहा ?

निर्देशक सुधा ही मुझे इस किरदार में अच्छी तरह देख पाई। मुझे यह कहने में कतई परेहज नहीं होगा कि सुधा एक लेडी होने की वजह से ही मुझे एक बेहतरीन लुक दे पायी। मोटर बाइक के सींस भी जिस तरह लिए है बहुत ही बेहतरीन दिख पड़ते हैं और मुझे जो बालो में थोड़ी सफेदी दी है, उसकी वजह से बहुत सारी लेडीज फैंस भी हो गयी हैं मेरी।

ritika-singh

आपके लुक को लेकर आपकी माँ और बीवी के क्या विचार थे ?

मेरी माँ पहले तो कह रही थी – क्या  लुक बना रखा है ? किन्तु कुछ दिनों बाद उन्हें मेरा यह लुक पसंद आया और मेरी बीवी भी यह कहने पर मजबूर हो गयी कि यदि लड़कियां तुम्हे इस लुक में पसंद कर रही हैं तो जाहिर सी बात है कुछ बेहतरीन ही लुक है। …”

“साला खडूस” में नई लड़की रितिका सिंह नजर आने वाली है – फिल्म 29 जनवरी को सिनेमा घरों में फिल्म देखने जाना ना भूलिए !!

 

 

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये