रघुवीर यादव

1 min


इनका डर बना इनकी कामयाबी की सीडी -रघुवीर यादव

रघुवीर यादव का जन्म 25 जून 1957 को जबलपुर मे हुआ था। ये भी उन कलाकारों मे से एक हैं जिन मे एक साथ कई प्रतिभाएं विधमान होती हैं ये एक स्टेज और टेलीविज़न एक्टर, म्यूजिक कंपोजर, सिंगर और सेट डिज़ाइनर भी हैं इतनी खूबियां होने के बाद भी ये आज तक बिल्कुल सदा जीवन जीते हैं ।
इन्होनें अपने करियर की शुरुआत 1985 मे आई फिल्म मैस्सी साहिब मे एक छोटे से रोल से की थी। इस फिल्म के लिए इन्होनें दो इंटरनेशनल अवार्ड जीते थे। इसके अलावा भी इन्होनें कई फिल्में की जैसे सलाम बॉम्बे!, लगान, फ़िराक, डिअर फ्रेंड हिटलर और वाटर आदि रघुवीर यादव का कहना है की रघुवीर यादव को थियेटर में इतना मजा आता था कि वह फिल्म में आना हीं नहीं चाहते थे। थिएटर में भी वह तब आए जब उन्होंने स्कूल में फेल होने के डर से घर छोड़ दिया। ये बातें खुद रघुवीर ने रायगढ़ में एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कही। गांव में पैदा होने और पलने के कारण रघुवीर गायन के क्षेत्र में ही आगे बढ़ना चाहते थे ,लेकिन तकदीर ने उन्हें पहले थियेटर पहुंचाया और फिर फिल्मों तक पहुंच गया। उन्होंने कई टीवी सीरियल भी किये जैसे मुंगेरीलाल के हसीन सपने, हाजी नसरुद्दीन, और उसके बाद बच्चों के फेमस सीरियल चाचा चौधरी मे भी दिखाई दिए। और सब बच्चों के फेवरट बन गए अभी वह कोई सीरियल नहीं करना चाहते क्योकि उनका कहना है टीवी सीरियल्स की इन दिनों फैक्ट्री चल रही है और वे फैक्ट्री में काम नहीं करना चाहते। उन्होंने यह भी माना कि आजकल नए नाटक कम लिखे जा रहे हैं, इसलिए लोग कुछ कहानियों` को ही नाटक के रूप में प्ले कर रहे हैं। इससे उनके एक्टिंग को लेकर काफी चूज़ी नतुर का भी पता चलता है।

कम्पोज़र और सिंगर इन्होने कई फिल्मों में गीत गए जैसे माया मेमसाब , मैस्सी साहिब, रुदाली, आसमान से घिर, ओ डार्लिंग ये है इंडिया, समर, संडे, डरना माना है, रामजी लंदन वाले, बिल्लू बार्बर, दिल्ली 6. और आमिर खान की फिल्म पीपली लाइव का फेमस सांग “महंगाई डायन” भी इन्होनें ही गया था व इसके अलावा एम पी टूरिज्म ऐड -‘एम पी आ जब है, सबसे गज़ब है जैसे गीतों के साथ और भी बहुत से गीत और वॉइस ओवर दिए।

SHARE

Mayapuri