काश लड़का पैदा होता – राजेश खन्ना

1 min


051-8 rajesh khanna

मायापुरी अंक 51,1975

राजेश खन्ना को पूरा विश्वास है कि अगर डिम्पल को एक-आध दिन पहले या बाद में बच्चा होता या वह बीज कैन्डी हॉस्पिटल की जगह किसी और हॉस्पिटल में दाखिल करवाई गई होती तो जरूर लड़का पैदा होता!

हाल ही में उसने अपने एक चमचे को बताया कि जिस दिन डिम्पल के लड़की पैदा हुई है उस दिन उस हॉस्पिटल में

जितनी भी डिलिवरी हुई हैं, सब की सब लड़की पैदा हुई हैं। शायद वह दिन ही ऐसा था। भगवान सबको लड़की देना चाहता था। पांच दिन पहले ही की बात है कि टाइम्स ऑफ इंडिया में एक खबर छापी थी कि भारत में एक वैज्ञानिक काफी हद तक कामयाब हो गया है कि अगर कोई आदमी लड़का चाहता है तो लड़का हो जायेगा।

अगर लड़की चाहिए तो वो भी। उसके साथ जितनी अकल, दिमाग चाहिेए उतना ही दिमाग वाला बच्चा हो सकता है और मैं सोच रहा था अगर ऐसा होने लगा तो वह आदमी के बच्चे नही होंगे बल्कि कम्प्यूटर होंगे।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये