“Man Vs Wild” की शूटिंग खत्म, लेकिन शुरु हुई Rajnikanth की मुश्किलें, गिरफ्तारी की उठी मांग

1 min


Rajnikanth के साथ बांदीपुर के जंगलों में  “Man Vs Wild” की शूटिंग को लेकर हुआ है बवाल

साउथ के सुपरस्टार Rajnikanth की हाल ही में Darbar फिल्म रिलीज़ हुई है। जो सुपरहिट रही, फिल्म को लोगों ने काफी पसंद किया है। लेकिन Darbar के बाद अब एक बार फिर से सुपरस्टार रजनीकांत चर्चा में है। ऐसा लग रहा है कि आने वाले समय में रजनीकांत की दिक्कतें बढ़ सकती हैं। सारा विवाद शुरू हुआ है “Man Vs Wild”  की शूटिंग को लेकर। हाल ही में Rajnikanth ने Bear Grylls के साथ मैन वर्सेज वाइल्ड की शूटिंग पूरी की है। लेकिन शूटिंग पूरी होते ही अब रजनीकांत की मुसीबतें बढ़ती हुई नज़र आ रही हैं।

प्रकृति प्रेमी कुछ कार्यकर्ताओं ने जंगल में हुई इस शूटिंग को लेकर सवाल उठाए हैं। उनके मुताबिक “Man Vs Wild” की शूटिंग बांदीपुर रिज़र्व पार्क में हुई है। जिससे जानवरों को ख़तरा हो सकता था। अपनी इन्ही दलीलों के दम पर रजनीकांत की गिरफ्तारी की मांग तक उठने लगी है।

क्या है पूरा मामला ?

आपको बता दें कि “Man Vs Wild” डिस्कवरी चैनल का काफी प्रचलित शो है, जिसे दुनिया भर में देखा जाता है। इस शो में जंगलों, बीहड़ों, बर्फीले व वीरान इलाकों में जीने की संभावनाएं बताई जाती हैं। इस बार इस शो की शूटिंग कर्नाटक में बांदीपुर के जंगलों में हुई है। वो भी साउथ के सुपरस्टार Rajnikanth के साथ। लेकिन इस मौसम में जंगल में हुई शूटिंग को लेकर कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं ने सवाल उठाए हैं। उन्होने कहा है कि अभी सूखे मौसम में शूटिंग करने से जंगल में आग भी लग सकती है। और आगे चलकर इस आग पर काबू पाना मुश्किल हो जाएगा। एक कार्यकर्ता ने ये भी कहा कि इसकी शूटिंग मानसून में भी हो सकती थी।

रजनीकांत ने जताया Bear Grylls का धन्यवाद

वहीं इन सभी विवादों के बीच रजनीकांत ने बियर ग्रिल्स का आभार जताते हुए एक ट्वीट किया है। उन्होने कहा, “एक शानदार और कभी न भूल पाने वाले इस अनुभव के लिए आपका धन्यवाद बेयर ग्रिल्स.”

पीएम नरेंद्र मोदी भी बन चुके हैं Man Vs Wild का हिस्सा

Rajnikanth से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस शो का हिस्सा बन चुके हैं। बीते साल Bear Grylls भारत आए थे और पीएम नरेंद्र मोदी के साथ उत्तराखंड स्थित नेशनल कॉर्बेट पार्क में इसकी शूटिंग की थी।  शो के इस एपिसोड को काफी पसंद किया गया था। 12 अगस्त, 2019 को टेलीकास्ट इस शो की लोकप्रियता इतनी थी कि इसने सुपर बॉल के इवेंट को भी पछाड़ दिया था।

बांदीपुर फॉरेस्ट क्यों है खास?

बांदीपुर रिज़र्व फॉरेस्ट 1974 में स्थापित किया गया है। उससे पहले वो मैसूर के राजा का प्राइवेट हंटिंग रिज़र्व हुआ करता था। लेकिन 874.2 वर्ग किलोमीटर एरिया में फैले इस जंगल को अब रिज़र्व फॉरेस्ट घोषित कर दिया गया। ये रिज़र्व एरिया मैसूर शहर से 80 किलोमीटर दूर ऊटी के रास्ते में है जहां हर साल सैलानी काफी सैलानी पहुंचते हैं।

और पढ़ेंः आखिर रजनीकांत ने अपने लोगों को जंग के लिए तैयार होने का एलान कर ही दिया – अली पीटर जॉन

 


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये