Extraction Movie Review / भरपूर एक्शन के बावजूद रणदीप हुड्डा की फिल्म ने तोड़ी दर्शकों की उम्मीदें, नहीं दिखा कुछ खास

1 min


Extratraction Movie Review

कैसी है रणदीप हुड्डा की पहली हॉलीवुड मूवी, जानें Extraction Movie Review

रणदीप हुड्डा की पहली हॉलीवुड फिल्म एक्स्ट्रैक्शन रिलीज़ हो चुकी है।  इस फिल्म को लेकर बॉलीवुड अभिनेता रणदीप काफी खुश थे और दर्शकों में भी फिल्म को लेकर काफी उम्मीदें थीं। इसको लेकर कई दावे भी किए जा रहे थे कि ये सीज़न की सबसे बड़ी मूवी होगी लेकिन ऐसा कुछ हुआ नहीं। फिल्म दर्शकों की उम्मीदों पर खरी उतरती नज़र नहीं आ रही है। तो चलिए बताते हैं आपको Extraction Movie Review

सबसे पहले जानें Extraction की कहानी

Extraction movie review

Source – Gadget NDTV

Extraction Movie Review आपको बताएंगे लेकिन उससे पहले आप फिल्म की कहानी जान लें। ये कहानी बांग्लादेश के कुख्यात ड्रगलॉर्ड(पंकज त्रिपाठी)  से जुड़ी है। जिसके बेटे ओवी का अपहरण हो जाता है। रणदीप हुड्डा जो पंकज त्रिपाठी के साथ ही काम करता है उसे ओवी को ढूंढने की जिम्मेदारी दी जाती है। इसके बाद क्रिस हेम्सवर्थ को बच्चे को बचाने का जिम्मा सौंपा जाता है। और फिर बच्चे को बचाने की कवायद शुरू हो जाती है। बच्चे को बचा पाने में ये कामयाब होते हैं या नहीं। या फिर कहानी कोई और मोड़ ले लेती है। ये सब जानने के लिए आप नेटफ्लिक्स पर जाइए और फिल्म देखिए। सब कुछ हम बताकर आपका मज़ा किरकिरा नहीं करेंगे।

कैसा है Extraction Movie Review?

ये तो थी फिल्म की कहानी। अब आपको बताते हैं कि आखिर फिल्म है कैसी, कहां कमी है और कौन सी कड़ी कमज़ोर रह गई। देखिए, सबसे पहले हम आपको बता दें कि फिल्म रत्ती भर भी दमदार नहीं है। भले ही इसके एक्शन सीक्वेंस देखकर फिल्म के खूब धांसू होने की उम्मीद थी। हेलीकॉप्टर, बंदूकों, गाड़ियो के धमाकों की गूंज तो आपको फिल्म खूब सुनाई देगी लेकिन आपको वो मज़ा नहीं देगी।  लेकिन मामला टांय टांय फिस्स रहा है। फिल्म की कमज़ोर कड़ी है इसकी पटकथा। कहानी  पर अगर थोड़ा और काम कर लिया जाता तो ये वाकई अच्छी फिल्म बन सकती थी। चूंकि कहानी कमज़ोर है इसीलिए एक्टिंग भी कुछ दमदार नहीं लगती। रणदीर हुड्डा से काफी उम्मीदें थीं लेकिन उन्होने ठीक ठाक ही काम किया है।

क्यों देखें फिल्म?

Extraction Movie Review

अब सवाल ये है कि जब फिल्म वो प्रभाव डालती ही नहीं है तो भला इसे क्यों देखा जाए। तो उसके भी कुछ वाजिब कारण हम बता देते हैं। दरअसल, इस फिल्म से बॉलीवुड के निर्देशक काफी कुछ सीख सकते हैं। इस फिल्म के कुछ सीन से सीखा जा सकता है कि भारत की सड़कों पर ऐसे शूटिंग भी हो सकती है। जो आज से पहले इंडियन मूवीज़ में नज़र नहीं आया है। वहीं इसके अलावा फिल्म का स्ट्रॉन्ग प्वाइंट है क्रिस हेम्सवर्थ और रणदीप हुड्डा के बीच करीब 10 मिनट चलने वाली फाइट। दोनों के बीच की ये टक्कर दर्शकों को स्क्रीन ने बांधे रखती है। इस सीन के लिए फिल्म नेटफ्लिक्स पर देखी जा सकती है।

और पढ़ेः मेडिकल स्टाफ को थैंक्यू कहने के लिए अक्षय कुमार का गाना ‘तेरी मिट्टी’ रिलीज़, देखें वीडियो


Like it? Share with your friends!

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये