मैने जॉनी लीवर को इस बीमारी से मिलती जुलती कॉमेडी करते देखा है- रानी मुखर्जी

1 min


इसमें कोई दो राय नहीं कि रानी मुखर्जी एक परिपक्व और शानदार अभिनेत्री है। आदित्य चोपड़ा से शादी करने और एक सुंदर सी बच्ची अदिरा की मां बनने के बाद बेशक वो कुछ दिनों के लिये बड़े पर्दे से दूर हो गई थी। एक बार फिर वह एक मजबूत और शिक्षाप्रद कहानी पर बनी फिल्म ‘हिचकी’ से बॉलीवुड में अपनी वापसी कर रही है। हाल ही में एक फिल्म के रचियता ब्रेड कोहेन से वीडियो कॉन्फ्रैसिंग प्रैस मीट के मौके पर उनके साथ हुई एक बातचीत।

आपे लिये कमबैक शब्द के इस्तेमाल को लेकर क्या फील कर रही हैं ?

मुझे अपने लिये कमबैक शब्द इस्तेमाल करने वाले लोगों से न कोई एतराज हैं और न ही इस शब्द से। दरअसल मैं अपनी बेटी अदिरा के अपने जीवन में आने के बाद से बहुत खुश हूं इसलिये मेरे साथ कोई ऐसी वैसी बात भी हो जाती है, उसके बाद भी मैं खुश रहती हूं। वैसे ये एक हद तक सही भी है क्योंकि मैं करीब तीन साल बाद वापस फिल्मों काम करने जा रही हूं। वह भी अपने पति आदित्य के इसरार पर।

फिल्म को लेकर क्या कहना है ?

मैंने सोचा करती थी कि मां बनने के बाद अगर मुझे दोबारा इस फील्ड में कदम रखना है तो उसके लिये कोई दमदार कहानी होनी चाहिये। ‘हिचकी’ वैसी फिल्म ही है, जिसका मुझे इंतजार था। इस फिल्म में मुझे एक ऐसा किरदार करने का मौका मिल रहा था जो अभी तक इंडियन सिनेमा में नहीं आया। इस स्क्रिप्ट में हर वो चीज थी जो अपने आप में कमाल यूनिक थी। दूसरे, मैं ऐसी फिल्म से वापसी करना चाहती थी जो मुझे अपनी छोटी बच्ची को घर पर छोड़, अभिनय करने पर सकती हो, हिचकी बिलकुल वैसी ही फिल्म है।

चूंकि अब आप एक मां भी है लिहाजा फिल्मों के चुनने में भी बदलाव आया होगा ?

बिलकुल। अब मैं पहले की तरह लव स्टोरीज तो नहीं कर सकती, हां उस तरह की प्रेम कहानी जरूर करना चाहूंगी जिसमें एक अलग सी बात हो, जो मेरे व्यक्तित्व को सूट करती हो। दरअसल एक औरत को मां बनने के बाद ही पता चलता है कि वो क्या है। मैं भी इन दिनों इस एहसास से भरी हुई हूं और इन दिनों मैं अदिरा को बड़ी करने का आनंद ले रही हूं ।

आपकी बेटी प्रीमच्यौर बेबी है ?

जी हां। दरअसल नो महीने का बच्चा नार्मल होता है, लेकिन उससे पहले आये बच्चे के लिये डॉक्टर्स द्धारा काफी सलाह दी जाती है लिहाजा मुझ पर अदिरा को लेकर ये भी दबाव था। मैं उसका पूरी तरह ख्याल रखते हुये मां बनने का पूरा सुख उठा रही थी। एक दिन आदित्य ने कहा कि बहुत हो गया मां बेटी का प्यार, अब अदिरा तुम्हारे बिना रह सकती है इसलिये एक बार फिर वापिस आ जाओ अपनी दुनियां में, और वो सब करो जिसके लिये तुम जानी जाती हो।

वापसी के बाद कितना नर्वस या टेंस रही ?

ऐसा कुछ नहीं था, मैं टेंस नहीं थी। चूंकि में नई नहीं हूं, मुझे फिल्मों और अपने काम की पूरी जानकारी है। दूसरा, मेरे डैड का भी यही कहना था, कि किसी भी फिल्म की कहानी उसकी बैकबोन होती है अगर वो बढ़िया है तो एक्टर को उसमें काम करते हुये मजा आता है। हिचकी ऐसी ही फिल्म है जिसकी रीढ़ की हड्डी बहुत मजबूत है।

फिल्म बेसिकली क्या कहती है ?

फिल्म, टॉरेट सिंड्रोम नामक बीमारी को लेकर है। इंडिया में अभी इस बीमारी को लेकर अवेयरनेस नहीं है। लिहाजा जिन बच्चों को ये बीमारी है उनके पेरेन्ट्स इसे स्वीकर नहीं करते, और जब इस बीमारी के शिकार लड़के या लड़की अपने स्कूल टॉरेट सिंड्रोम का प्रदर्शन करते है तो टीचर को लगता है कि लड़का या लड़की बदमाशी कर रहे हैं, वरना क्यों वे ऐसी आवाजे निकाल रहे हैं। इसलिये मैं अपने हर इन्टरव्यू में कहती आ रही हूं कि हमारे यहां अवेयरनेस की कमी है। जिन बच्चों को टॉरेट सिंड्रोम है उनके मां बाप को बहुत सचेत रहना पड़ता है। इस बीमारी की खासियत है कि जैसे जैसे आप बड़े होते हैं ये भी बढ़ती जाती है। इसका उपाय यही है कि पेरेन्टस अपने बच्चों को उसी स्कूल में भेजें, जहां के टीचर इस बीमारी के बारे में जानते हों। इसके अलावा उन्हें अच्छा माहौल मिले तो भी ये बीमारी कंट्रोल में रहती है।

अपनी भूमिका को लेकर आपका क्या कहना है ?

मैं फिल्म में ऐसी टीचर नैना माथुर की भूमिका निभा रही हूं जो इस बीमारी से ग्रस्त है। फिल्म यूएस में रह रहे ब्रैड कोहेन की ऑटोबायोग्राफी पर लिखी किताब ‘फ्रंट ऑफ द क्लास’ से प्रेरित है। दरअसल कोहेन खुद इस बीमारी के शिकार हैं। उन्हीं से प्रेरित है, नैना माथुर की भूमिका। मैं अक्सर उनसे स्काइप पर रोल को लेकर बातें किया करती थी। मुंबई में इस बीमारी के बारे में किसी को कुछ नहीं पता, लिहाजा इस बीमारी की बारीकियों को समझने के लिये मैं उनसे यूएस जाकर मिली और आज मीडिया को भी वीडियो कॉन्फ्रैंसिंग के तहत उनसे मिलने का मौका दिया गया है।

इससे पहले आप इस बीमारी से ग्रस्त किसी से मिली हैं ?

नहीं। लेकिन मैने जॉनी लीवर को इस बीमारी से मिलती जुलती स्टेंडअप कॉमेडी करते देखा है। अमेरिका में इस बीमारी से ग्रस्त काफी लोग हैं, उनमें से ढेर सारे लोगां ने कॉमेडी को अपना कॅरियर बना लिया।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज Facebook, Twitter और Instagram परa जा सकते हैं.


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये