किस्मत हमेशा साथ नहीं देती – रणजीत

1 min


050 a-8 Ranjeet

मायापुरी अंक 50,1975

शूटिंग के लिए समय पर न आना तो ऐसा लगता है रणजीत की आदत-सी हो गयी है, लेकिन अब तो कभी कभी वह आता ही नहीं। उस दिन ‘भंवर’ के सैट पर डब्बू, परवीन बॉबी, नादिरा और अशोक कुमार जैसे आर्टिस्ट उसका इंताजर कर रहे थे लेकिन उनका पता ही नही था। दिन के एक बजे तक इंतजार करने के बाद मजबूर होकर उन्हें पैकअप करना पड़ा इस तरह निर्माता-निर्देशक भप्पी सोनी को हजारों रूपयों का नुकसान हो गया।

रणजीत को यह नहीं भूलना चाहिए कि आज अगर वह शिखर पर हैं तो अपनी अदाकारी के कारण नहीं बल्कि अपनी किस्मत की वजह से हैं और किस्मत हमेशा के लिए आदमी का साथ नहीं देती। कम उमर के विलेन की कमी के कारण उसको काम मिलना शुरू हो गया था। लेकिन जब डैनी पीलियाके रोग से पांच छ: महीने के लिए बिस्तर पर पड़ गये तो भगवान ने जैसे इनके लिए किस्मत का दरवाजा खोल दिया डैनी की सब पिक्चरें रणजीत को मिल गईं। अगर उनका स्वभाव ऐसा ही रहा तो फिर भगवान ही जानता है क्या होगा?


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये