रंजू की बेटियां का सेट कास्ट और क्रू को घर जैसा लगता है

1 min


टेलीविजन इंडस्ट्री का हिस्सा बनना आसान नहीं है, खासकर ऐसे समय में जब घर और परिवार से दूर रहने सहित काम करने के लिए कई सीमाएं और चुनौतियां हैं।आरुषि शर्मा जो वर्तमान में दंगल टीवी के शो रंजू की बेटीयां में दिखाई दे रही हैं, उनकी अलग कहानी है। वह साझा करती हैं कि सेट पर उनके दिन उनकी ऑन-स्क्रीन बहनों मोनिका शर्मा और रूपल त्यागी के बिना मज़ेदार नहीं होते और भले ही सब घर से दूर है रंजू की बेटीयां की पूरी कास्ट और क्रू ने एक-दूसरे को घर जैसा महसूस कराया है।
अपने बोंड के बारे में बताते हुए और आरुषि अपने सह-अभिनेताओं के साथ फ्री समय कैसे बिताती है, वह कहती है, “हम ऑन-स्क्रीन केवल एक परिवार नहीं हैं, बल्कि ऑफ-स्क्रीन भी एक बहुत मजबूत बोंड शेयर करते हैं। अब जब हम बाहर शूटिंग कर रहे हैं, हम एक साथ बहुत सारा क्वालिटी टाइम बिता रहे हैं। जब भी मैं फ्री होती हूं, तो मैं टाइम पास करने के लिए मोनिका (चौहान) दीदी और रूपल (त्यागी) दीदी के कमरे में चले जाती हूं। हम एक साथ गपशप करते हैं या कुछ वीडियोस, फिल्म देखते हैं। हम मजाक में खुद को ‘चाँद’ परिवार कहते है क्योंकि हर दिन रात के खाने के बाद, हम टहलना और चाँद को देखना पसंद करते हैं। साथ ही, मैं मोनिका दीदी और रूपल दीदी दोनो से बहुत करीब महसूस करती हूँ। मोनिका दीदी ने मुझे योग सिखाया है और नए आसन भी सिखाएं है। जैसा कि वह जानती है कि मुझे मेडिटेशन करना पसंद नहीं है, वह खुद भी नहीं करती जब मैं आसपास होती हूं ताकि हम एक साथ कार्डियो कर सकें। कभी-कभी, मैं, अदिबा (हुसैन), करन (खंडेलवाल) भैया और  जीवांश (चड्ढा) भैया एक दूसरे के खिलाफ दौड़ लगाते हैं। हम बहुत मज़ा करते हैं और हमारी थोड़ी कैलोरी बर्न भी हो जाती हैं। मुझे वर्कआउट करने का बहुत शौक नहीं था लेकिन मेरे को-स्टार्स ने मुझे प्रोत्साहित किया और यह मुझे अब बहुत खुश करता है।”
सह-अभिनेताओं को एक साथ क्वालिटी टाइम बिताते हुए और एक-दूसरे को फिट और स्वस्थ रहने के लिए प्रोत्साहित करते हुए देखना अच्छा लगता है।रंजू की बेटियां एक मां, रंजू की दिल को छू लेने वाली और एक पितृसत्तात्मक समाज में 4 बेटियों की परवरिश का उनका संघर्ष की कहानी है। देखे रंजु की बेटीया रात 9.30 बजे केवल दंगल टीवी पर।

दंगल टीवी केबल नेटवर्क और डीटीएच प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है 

SHARE

Mayapuri