आर्यन खान को आख़िर क्यों नहीं मिली अदालत से जमानत?

1 min


बॉलीवुड के किंग कहलाने वाले शाहरुख़ खान के नक्षत्र शायद लम्बे समय से ही गर्दिश में हैं। सिनेमाई दुनिया में तो उनकी फिल्में बीते 5 साल से लगातार फ्लॉप हो रही हैं, उनकी आईपीएल टीम ‘केकेआर’ भी पिछले 6 साल से नहीं जीती है। शाहरुख़ हमेशा कहते हैं कि उनके लिए उनके परिवार से बढ़कर कोई नहीं है, लेकिन अब इस परिवार पर भी संकट आ गया है। बीते 2 अक्टूबर की रात को शाहरुख़ के बड़े बेटे आर्यन खान को एनसीबी द्वारा मुंबई के पास एक क्रूज़ से पकड़ लिया गया। इस क्रूज़ में आर्यन समेत उनके 7 अन्य लड़के लड़कियों को गिरफ्तार किया गया था। आज 8 अक्टूबर 2021 की दोपहर 12:30 से आर्यन खान की जमानत को लेकर सुनवाई होनी थी। लेकिन चार घंटे चली इस सुनवाई में फैसला शाहरुख़ के बेटे के पक्ष में नहीं आया। ज्ञात हो कि आर्यन खान को मेडिकल चेकअप के बाद ही सीधे ज्युडिशियल कस्टडी के लिए आर्थर रोड जेल भेज दिया गया था। अब 8 की रात तो वह कम से कम जेल में ही रहेंगे।

फिर आखिर क्यों न मिली आर्यन को बेल?

शाहरुख़ खान के वकील सतीश मानेशिंदे यूँ तो बहुत बड़े वकील हैं व उन्होंने कई सेलेब्रिटीज़ के केस लड़े हैं। लेकिन आर्यन के लिए बेल अपील करने से पहले शायद वह यह न देख सके कि आर्यन का जुर्म नॉन-बेलेबल क्राइटेरिया में आता है। जब कोर्ट ने उनसे कहा कि हम इस मामले में बेल दे ही नहीं सकते, तब सूत्रों के अनुसार सतीश मानेशिंदे ने अपील करनी चाही कि कम से कम उनकी बहस सुन ली जाए।

इस बहस में सतीश मानेशिंदे ने अपने पॉइंट्स रखे कि एनसीबी के पास कोई बड़ा सबूत नहीं है।

ड्रग्स या ऐसा कोई भी आपत्तिजनक पदार्थ आर्यन के घर से नहीं मिला है।

आर्यन व उनके साथी सब लोकल हैं, उन्हें बेल दे दी जाए क्योंकि बेल के बाद भी इन्वेस्टिगेशन हो सकती है।

सतीश मानेशिंदे ने सुप्रीम कोर्ट के कुछ रेफेरेंस भी दिए कि सुप्रीम कोर्ट में भी इस तरह के केस आते हैं और हर्ष साहनी का रेफेरेंस देते हुए बताया कि वहाँ भी ऐसे केस को बेल दी गयी थी।

सतीश मानेशिंदे ने सोमवार को हुई बहस में एनसीबी के आरोप को धता बताते हुए कहा था कि “आर्यन खान ड्रग्स क्यों बेचेंगे, वह शाहरुख़ के बेटे हैं, वह पूरा क्रूज़ ख़रीद सकते हैं”

एक ट्वीट से ये जानकारी भी मिली है कि सतीश मानेशिंदे कोर्ट प्रोसेडिंग के दौरान हँस रहे थे व हास्य विनोद कर रहे थे।

दूसरी ओर प्रोसिक्युशन के वकील ने दलील दी कि आर्यन खान की जमानत हाई कोर्ट से हो ही नहीं सकती। इस मुद्दे पर दोनों वकीलों की अच्छी खासी बहस हुई, कोर्ट ने भी सतीश मानेशिंदे से पूछा कि आप इस केस की सुनवाई हाई कोर्ट में क्यों कर रहे हैं?

दूसरी ओर प्रोसिक्यूशन के वकील एएसजी सिंह ने सतीश मानेशिंदे के सबूत न होने वाली बात को ख़ारिज करते हुए कोर्ट के सामने क्रूज़ से बरामद नशीले पदार्थ और whatsapp चैट भी पेश कर दी।

इसपर सतीश मानेशिंदे ने कहा कि ये सब सबूत कोई ख़ास मायने नहीं रखते हैं, प्रोसिक्यूशन के पास कोई ठोस सबूत नहीं है।

एएसजी सिंह ने यह कहते हुए अपनी बात खत्म की कि अगर इस मामले पर इस कोर्ट से जमानत मंजूर हो सकती है तो भी नहीं मिलनी चाहिए क्योंकि आप बेहतर जानते हैं कि मुलजिम की पहुँच कहाँ तक है और ये सबूतों व गवाहों के साथ छेड़-छड व फेर बदल कर सकते हैं। साथी ही उन्होंने यह भी जोड़ा कि इस तरह के केस में अगर बेल मिल जाती है तो इन्वेस्टिगेशन पर यकीनन असर पड़ेगा।

कोर्ट पहले ही बेल करने की पोजीशन में नहीं थी, फिर भी कोर्ट ने मानेशिंदे की जिरह को निन्म्स्तरीय बताया  और आर्यन खान समेत मुनमुन व अरबाज़ मर्चेंट की बेल खारिज कर दी।

आज शाहरुख़ खान की पत्नी गौरी खान का जन्मदिन भी है। आर्यन की गिरफ्तारी के बाद से ही शाहरुख़ व गौरी पब्लिक में नज़र नहीं आए हैं। बादशाह कहनाने वाले शाहरुख़ खान इस वक़्त उस दौर से गुज़र रहे हैं जहाँ उन्हें सब तरफ से मुसीबतें ही मुसीबतें झेलने को मिल रही हैं।

आर्यन खान केस में उनके दोस्त अरबाज़ मर्चेंट के वकील सईद कल सेशन कोर्ट में जमानत याचिका डालेंगे। हालांकि कल शनिवार होने के कारण कोर्ट बंद रहेगी, फिर भी देखना होगा कि एक सेलेब्रिटी के दोस्त के लिए क्या कोर्ट खोली जाती है? साथ ही आर्यन खान को अब कम से कम दो रातें तो जेल में बितानी ही पड़ेंगी।

– सिद्धार्थ अरोड़ा ‘सहर’

SHARE