रिसाइकिलवाला फिल्म्स ढूंढ रही है अच्छी फिल्म कहानियाँ 

1 min


रिसाइकिलवाला फिल्म्स ने अच्छी कहानियों पर फिल्में बनाने वाले प्रोडक्शन हाउस के रूप में अपनी पहचान कायम कर ली है। रिसाइकिलवाला फिल्म्स ने निश्ता जैन की नेशनल अवार्ड जीत चुकी डॉक्यूमेंट्री ‘गुलाब गैंग’ का डिस्ट्रीब्यूशन किया है साथ ही साथ मेघा रामसे की हायब्रिड शोर्ट डॉक्यूमेंट्री ‘न्यूबोर्सं” का निर्माण भी किया है। रिसाइकिलवाला फिल्म्स के फाउंडर सोहम शाह उनके अगले कदम ‘द रिसाइकिलवाला स्टोरी सर्च 2015’ को लेकर अतिउत्साहित हैं। यह देश के 110 शहरों में से गुजरेगी। सोहम कहते हैं, “हम जादू ढूंढ़ रहे हैं। एक बेहतरीन कहानी का जादू और जैसे ही हमें यह मिल जाएगी, हम लेखकों के साथ इस पर स्क्रिप्ट तैयार कर लेंगे। हमारी सारी पहले बनी फिल्में किसी जबरदस्त विचार पर ही आधारित रही हैं।” इस बैनर के तले बनी फिल्म ‘शीप ऑफ थेसस’ ऐसी कहानी पर आधारित थी जिस पर कोई और फिल्म नहीं बनाता। फिल्म काफी पसंद की गई थी और नेशनल अवार्ड जीतने में भी सफल हुई थी।

स्क्रिप्ट की खोज 14 अक्टूबर से शुरू हो चुकी है और 14 नवंबर तक चलेगी। जिन कहानियों को चुन लिया जाएगा, उनकी घोषणा 25 नवंबर को की जाएगी। जीती हुई स्क्रिप्ट के लेखकों 5 लाख का इनाम दिया जाएगा। इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए रिसाइकिलवाला की वेबसाइट पर विजिट किया जा सकता है ।

 


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये