पिता से नाराजगी – रेखा

1 min


Rekha (3)
‘राम भरोसे’ की हीरोइन रेखा नटराज स्टूडियो में मिल गई। हमने उनसे कहा।
आजकल आपके सैट में गायब हो जाने के बड़े चर्चे हैं। आखिर आप निर्माताओं को क्यों सताती हैं।
मैं ऐसा जानबूझ कर किसी का नुकसान नहीं करती। दरअसल जो मुझमें सहयोग करता है मैं उससे जरूर सहयोग करती हूं क्यों कि ताली तो दोनों ही हाथों से बजती है। लेकिन कुछ निर्माता ऐसे हैं जो हीरोइनों को इंसान नहीं मशीन समझते हैं। ऐसी स्थिति में मजबूरन किसी न किसी तरह चाहे अनचाहे ऐसी परिस्थिति उत्पन्न हो जाती हैं। रेखा ने कहा?
पिछले दिनों सुना था कि आपकी अपने पिता जैमिनी गर्णशन से संधि हो गई। किंतु इधर फिर आपने अपने पिता के विरुद्ध बोलना शुरू कर दिया है इसके क्या कारण हैं?
शीशा टूटने पर अगर जोड़ भी दिया जाए तो उसमें बाल जरूर पड़ जाता है। जब मुझे बाप के प्यार की जरूरत थी, मेरे पिता मेरी मां को छोड़ चुके थे। आज जब मैं कुछ हो गई हूं तो वह मेल बढ़ाना चाहते हैं यह भला कैसे हो सकता है? बतौर अभिनेता मैं उनकी फैन हूं किंतु बतौर मनुष्य वह मुझे कभी प्रभावित नही कर सके। रेखा ने कहा और पीछा छुड़ाकर चली गई।


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये