ऋचा चड्ढा और आरती कादव की शार्ट फिल्म का नाम 55kms/सेकंड आखिर क्यों?

1 min


55kms second

विश्वव्यापी लॉकडाउन के बीच साइंस फिक्शन में माहिर निर्देशिका आरती कादव ने अपने आइफोन पर एक फ़िल्म कन्सीव की थी जो अब डिलीवरी के लिए तैयार है। पिछले साल सितम्बर में नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ हुई विक्रांत मस्से और श्वेता त्रिपाठी अभिनीत फिल्म ‘कार्गो’ के लिए आरती को खूब यश मिला था। उसके बाद कोरोना काल में उन्होंने घर पर बंद रह कर भी एक पूरी फिल्म की शूटिंग कर के अपने टैलेंट का लोहा मनवा लिया।
सुलेना मजुमदार अरोरा

55kms/Second पहले अमेजन प्राइम वीडियो यूएस और यूके में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रिलीज हुई थी

55kms secondएक हाई कांसेप्ट विचार धारा पर आधारित इस फिल्म में ऋचा चड्ढा प्रमुख भूमिका में हैं। कादव की पटकथा से बेहद प्रभावित ऋचा का यह पहला प्रोजेक्ट था जिसे उसने लॉकडाउन के दौरान शूट किया था। कादव के इस फिल्म की कहानी, दहशत के बीच जीवन जीने की मजबूरी को चरितार्थ करने वाली कहानी है जिसमें यह दिखाया गया है कि एक उपग्रह पृथ्वी से टकराने की खबर उड़ती है और फिर पूरी दुनिया हर पल डर के साए में जीने को मजबूर हो जाती है। यह फिल्म पहले अमेजन प्राइम वीडियो यूएस और यूके में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रिलीज हुई थी।

फिल्ममेकर आरती ने बताया, “मैं डिज़नी + हॉटस्टार और शॉर्ट फिल्म विंडो की शुक्रगुज़ार हूं जिन्होंने हमारे फिल्म के प्रति इतना प्यार बरसाया। इस फिल्म को ‘55 किमी / सेकंड‘ का नाम इसलिए दिया गया है क्योंकि यह एक खास गति के माप दंड को दर्शाता है और कहानी में इसी तेज़ गति से एक उपग्रह के पृथ्वी पर अपना रास्ता बनाने को लेकर स्टोरी है। इस कोरोना काल में हम सभी नए सामान्य के लिए तैयार हैं, ऐसे विकट समय में इस शॉर्ट फिल्म को बनाने का एक मजेदार अनुभव मुझे हुआ। मेरी टीम और मैंने फ़िल्म मेकिंग को, हम सबको खुशी देने का एक माध्यम के रूप में चुना। हमारा वर्चुअल सेट नई ऊर्जा के साथ उत्साह से भरा हुआ था। यह हमारे लिए एक यादगार अनुभव था और मुझे उम्मीद है कि दर्शक हमें उतना ही प्यार देंगे।”

55kms second 55kms second  55kms second


Like it? Share with your friends!

Mayapuri

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये